scriptVIDEO अगर ऐसी ही गुणवत्त्ता रही तो अन्य एजेंसी से करा सकते है जांच | People's representative angry with the quality of the road | Patrika News
समाचार

VIDEO अगर ऐसी ही गुणवत्त्ता रही तो अन्य एजेंसी से करा सकते है जांच

नगर में दो करोड 49 लाख की लागत से बन रही है 12 सड़कें

May 17, 2023 / 09:24 pm

amit mandloi

VIDEO अगर ऐसी ही गुणवत्त्ता रही तो अन्य एजेंसी से करा सकते है जांच

VIDEO अगर ऐसी ही गुणवत्त्ता रही तो अन्य एजेंसी से करा सकते है जांच

धार.
नगर के अलग-अलग हिस्सों में काया-कल्प अभियान के तहत दो करोड 49 लाख की लागत से 12 डामरीकृत सड़कें बनाई जा रही है। सड़क बनने के चंद दिनों बाद ही इसकी गुणवत्ता पर सवाल खडे होने लग गए है।
त्रिमूर्ति नगर में बनने वाली सड़क में गुणवत्ता सही नहीं होने पर लोगों ने शिकायत की। शिकायत के बाद नगर पालिका अध्यक्ष नेहा बोडाने, पूर्व जिलाध्यक्ष राजू यादव मौके पर पहुंचे।
गुणवत्ता से समझौता नहीं

सड़क में कई जगह गुणवत्ता की कमी देखी जा रही है। लोगों की शिकायत के बाद नगर पालिका अध्यक्ष बोडाने के साथ पूर्व जिलाध्यक्ष यादव भी भ्रमण पर निकले। उन्होंने इंजीनियर राकेश बैनल से चर्चा की। बैनल ने बताया कि इसकी जांच अलग टीम करती है जो हो चुकी है। जिस पर यादव ने कहा कि गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाएगा। सरकार ने पैसा दिया है तो लोगों को सुविधा भी मिले। अध्यक्ष के साथ नगर पालिका उपाध्यक्ष मयंक म्हाले, अजीत जैन, जितेंद्र अग्रवाल, दीपू सिंधी, हरिश आर्य सहित कई लोग मौजूद थे।
साईड से ही अटपटी बनी सड़क

जिस स्थान पर खडे रह कर नेता इंजीनियर और ठेेकेदार से सवाल-जवाब कर रहे थे। उनके पैर के नीचे ही घटिया निर्माण साफ नजर आ रहा था। नगर पालिका अध्यक्ष ने कहा कि सड़क के किनारे भी कहीं उंचा कहीं नीचा कर दिया गया है। सभापति अजीत जैन ने कहा कि मोदी की कालोनी से आने वाले पानी से सड़क खराब हो सकती है। जिस पर इंजीनियर ने कहा कि वह भी व्यवस्था कर देंगे।
ठेका घाटाबिल्लौद का बना रहे दूसरे

दरअसल ठेका घाटाबिल्लौद की फर्म का हुआ है। बताया जाता है उसने धार के अन्य ठेकेदार को काम सौंप दिया है। मौके पर पेटी पर काम लेने वाले ही यादव और बोडाने का जवाब देते नजर आए। बताया जाता है जो काम कर रहे है उन्हें सड़क बनाने का अनुभव नहीं है। उनकी बाजार में कपडे की दुकान है लेकिन नेताओं और अधिकारियों की नजदीकी के चलते ये काम कर रहे है।
सीएमओ सर से अनुमति लेकर लोक निर्माण विभाग में सड़क जांच के लिए लिख दिया जाएगा। लोग सड़क बनने के तत्काल बाद वाहन निकालना शुरू कर देते जिससे भी दिक्कतें आती है।
राकेश बैनल, इंजीनियर
https://www.dailymotion.com/embed/video/x8l0psu

Hindi News/ News Bulletin / VIDEO अगर ऐसी ही गुणवत्त्ता रही तो अन्य एजेंसी से करा सकते है जांच

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो