script998 बूथों पर पिलाई जा रही पोलियो की दवा, पांच वर्ष तक के 1.13 लाख बच्चे चिन्हित | Patrika News
समाचार

998 बूथों पर पिलाई जा रही पोलियो की दवा, पांच वर्ष तक के 1.13 लाख बच्चे चिन्हित

अनूपपुर. राष्ट्रीय पल्स पोलियो का तीन दिवसीय अभियान 23 जून से प्रारंभ हो गया है। अभियान के तहत शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जा रही। जिले में अभियान की सफलता के समन्वित प्रयास के लिए संयुक्त कलेक्टर दिलीप पाण्डेय की अध्यक्षता में एक दिन पहले जिला स्तरीय टास्क […]

अनूपपुरJun 23, 2024 / 12:32 pm

Sandeep Tiwari

अनूपपुर. राष्ट्रीय पल्स पोलियो का तीन दिवसीय अभियान 23 जून से प्रारंभ हो गया है। अभियान के तहत शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जा रही। जिले में अभियान की सफलता के समन्वित प्रयास के लिए संयुक्त कलेक्टर दिलीप पाण्डेय की अध्यक्षता में एक दिन पहले जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक सीएमएचओ कार्यालय में आयोजित की गई। जिले में 0 से 5 वर्ष तक के एक लाख 13 हजार 666 बच्चों को पोलियो की वैक्सीन पिलाई जानी है इसके लिए जिले में 09 मोबाइल टीम, 30 ट्रांजिट टीम मिलाकर कुल 998 बूथ बनाए गए हैं। पर्यवेक्षण के लिए 108 पर्यवेक्षक एवं 2036 वैक्सीनेटर लगाये गये है। बैठक में संयुक्त कलेक्टर दिलीप पाण्डेय ने स्वास्थ्य विभाग सहित शिक्षा, महिला बाल विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगरीय निकायों के सभी संबंधित अधिकारियों को राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान की शत-प्रतिशत सफलता के लिए स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय बनाकर कार्य करने तथा शून्य से 05 साल तक बच्चों को दो बूंद जिंदगी की पिलाने का लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए। जिले की सभी शालाओं तथा आंगनबाडिय़ों में प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए गए। साथ ही कहा गया कि पोलियो बूथ के लिए चिन्हित शालाएं एवं आंगनबाड़ी रविवार को भी खोली जाएं। बैठक में जनजातीय कार्य विभाग की सहायक आयुक्त सरिता नायक, महिला एवं बाल विकास की सहायक संचालक मंजूषा शर्मा, जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी केके सोनी, सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ एस बी अवधिया उपस्थित रहे।
कोई भी बच्चा खुराक से ना रहे वंचित

0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने के लिए 23 से 25 जून तक तीन दिवसीय राष्ट्रीय पल्स पोलियो कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। कलेक्टर आशीष वशिष्ठ ने जिलेवासियों से इस अभियान को सफल बनाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि अभियान के अंतर्गत 0 से 5 साल तक का एक भी बच्चा छूटे ना यह सुनिश्चित हो। प्रथम दिन बूथ पर दवाई पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। छूटे हुए बच्चों को अगले दो दिन घर-घर जाकर पोलियों की दवा पिलाई जाएगी।

Hindi News/ News Bulletin / 998 बूथों पर पिलाई जा रही पोलियो की दवा, पांच वर्ष तक के 1.13 लाख बच्चे चिन्हित

ट्रेंडिंग वीडियो