scriptTikamgarh News: डॉक्टरों का फरमान, दूसरी मेडिकल दुकान से दवा ली तो नहीं करेंगे इलाज | TIKAMG Doctors are pressuring people to take medicines from identified medical stores | Patrika News
समाचार

Tikamgarh News: डॉक्टरों का फरमान, दूसरी मेडिकल दुकान से दवा ली तो नहीं करेंगे इलाज

Tikamgarh News: अस्पताल में मरीजों का उपचार न करने और अपने चिन्हित मेडिकल से दवाएं लेने के लिए मरीजों पर दबाव डालने के मामले लगातार सामने आ रहे है।

टीकमगढ़Jul 06, 2024 / 01:59 pm

हामिद खान

टीकमगढ़. सीएमएचओ को ज्ञापन सौंपते हुए महासभा के पदाधिकारी।

टीकमगढ़. सीएमएचओ को ज्ञापन सौंपते हुए महासभा के पदाधिकारी।

ओबीसी महासभा ने रैली निकालकर किया प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

Tikamgarh News: स्वास्थ्य केंद्रों में पदस्थ चिकित्सकों की लापरवाही पर लगाम लगती नहीं दिखाई दे रही है। अस्पताल में मरीजों का उपचार न करने और अपने चिन्हित मेडिकल से दवाएं लेने के लिए मरीजों पर दबाव डालने के मामले लगातार सामने आ रहे है। ऐसे ही एक मामले को लेकर अब ओबीसी महासभा ने आंदोलन छेड़ दिया है। शुक्रवार को महासभा ने रैली निकालते हुए सीएमएचओ ऑफिस पहुंच कर ज्ञान सौंपा।

मामला बड़ागांव धसान के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है। आरोप लगाया जा रहा है कि यहां पर पदस्थ डॉक्टर प्रशांत जैन द्वारा मरीजों को अपने चिन्हित मेडिकल से दवाएं लेने के लिए परेशान किया जाता है। दूसरे मेडिकल से दवाएं लाने पर वह उपचार करने से मना करते है। इसकी लगातार शिकायतें और वीडियो सामने आने के बाद शुक्रवार को ओबीसी महासभा ने इसका विरोध करते हुए सीएमएचओ डॉ. शोभाराम रोशन को ज्ञापन सौंपा।

महासभा के जिला अध्यक्ष रवींद्र लोधी ने बताया है कि बड़ागांव धसान अस्पताल में पदस्थ डॉ. प्रशांत जैन के द्वारा सरकारी अस्पताल के चेंबर में बैठकर सरकारी दवाई न लिखना बाहर की दवाएं लिखी जाती है और एक निजी क्लीनिक से दवाई लेने के लिए दबाव बनाया जाता है। उनका कहना था कि मामला सामने आने पर बीएमओ से शिकायत की गई थी, लेकिन इस पर नोटिस जारी करने के बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई थी।

वहीं डॉ. जैन का यह काम अब भी जारी बना हुआ है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब लोग परेशान है। लोगों ने आरोप लगाया है कि यहां पर संचालित मेडिकल को उनकी पत्नी के द्वारा चलाया जा रहा है। ऐसे में महासभा ने इस पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की है।
इसके साथ ही महासभा ने प्रसूति महिलाओं को मिलने वाली सहायता राशि उनके खातों में डलवाने, पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की व्यवस्था कराने, ओपीडी में तैनात किए जाने वाले डॉक्टरों को समय से उपलब्ध कराने सहित अन्य मांगे की है। इस ज्ञापन पर सीएमएचओ डॉ. रोशन ने जांच के बाद कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

Hindi News/ News Bulletin / Tikamgarh News: डॉक्टरों का फरमान, दूसरी मेडिकल दुकान से दवा ली तो नहीं करेंगे इलाज

ट्रेंडिंग वीडियो