सीवर लाइन की खुदाई करते समय दो कर्मचारियों की हुई माैत, पुलिस ने ठेकेदार पर दर्ज किया मुकदमा- देखें वीडियो

  • एनडीआरएफ ने छह घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद निकाला शव
  • पुलिस ने ठेकेदार के खिलाफ दर्ज किया लापरवाही का मुकदमा, अथाॅरिटी ने जेई को किया सस्पेड

By: Nitin Sharma

Updated: 03 May 2019, 04:29 PM IST

नोएडा।सेक्टर 107 में स्थित सलारपुर में गुरुवार देर रात सीवर की खुदाई करते समय पास से गुजर रहे नाले का पानी भरने से दो सफाई कर्मचारी की डूबने से मौत हो गई। दोनों मजदूरों के शव पानी के साथ ही निकली मिट्टी में दब गये। इसकी सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। मजदूराें का शव न निकाल पाने पर मामले की जानकारी एनडीआरएफ काे दी। एनडीआरएफ ने शुक्रवार सुबह दाेनाें मजदूराें के शव निकाले गये। इसके साथ ही काेतवाली सेक्टर- 39 पुलिस ने ठेकेदार के खिलाफ लापरवाही का मुकदमा दर्ज किया है।इसके साथ ही प्राधिकरण ने सर्किल के जेई पवन कुमार को सस्पेंड कर दिया

नोएडा अथॉरिटी में संविदा कर्मचारी थे दोनों मजदूर

जानकारी के अनुसार हामिद और असलम दोनों ही नोएडा अथॉरिटी में संविदा कर्मचारी थे। दोनों ठेकेदार के अंडर में सलारपुर गांव में प्राधिकरण द्वारा कराये जा रहे सीवर लाइन की खुदाई का काम कर रहे थे। वहां पर दिन रात काम किया जा रहा है। गुरुवार की रात भी काम चल रहा था। जहां सीवर लाइन डालने के लिए करीब 15 से 20 फीट गहरा गड्ढा खोदा गया था। रात करीब 9 बजे बगल की सीवर लाइन अचानक फट गई और बड़ी मात्रा में पानी आ गया। वहां पर कई कर्मचारी काम कर रहे थे। इसबीच प्राधिकरण में अनुबंध पर तैनात हामिद और असलम उसकी चपेट में आने से डूब गये। दूसरे कर्मचारी किसी तरह अपने को बचाने में कामयाबी हो गए। उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस और प्रशासन को दी। जिसे देखते हुए मजदूरों को निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन उनका कुछ पता न चलने पर गाजियाबाद एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया।

एनडीआरएफ की टीम ने घंटों बाद निकाले मजदूरों के शव

देर रात करीब 2.15 बजे एनडीआरएफ की गोताखोरों की टीम इंस्पेक्टर जितेंद्र यादव के नेतृत्व में मौके पर पहुंची और सफाई कर्मचारियों की तलाश शुरू की।पूरी रात टीम को कोई सफलता नहीं मिली। लेकिन लगातार कोशिश के बाद शुक्रवार की सुबह करीब 6.25 बजे पहली और 7.30 बजे दूसरे मजदूर की लाश मिली। पुलिस ने दोनों मजदूरों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हामिद और असलम मूलरूप से बदायूं के रहने वाले थे और यहां जहांगीरपुरी में किराये के मकान में रहते थे। वहीं मामले में अथाॅरिटी के उप मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि दो मजदूरों की मौत को लेकर प्राधिकरण ने ठेकेदार के खिलाफ सेक्टर- 39 थाने में लापरवाही का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की है। इसके साथ ही प्राधिकरण ने जेई सर्किल एक के पवन कुमार को सस्पेंड कर दिया है। वहीं मुआवजे को लेकर अधिकारियों ने कहा कि वह सिर्फ अपने कर्मचारी के साथ अनहोनी होने पर मुआवजा देते है। संविदा ठेकेदार संबंधित मजदूरों को कोई मुआवजा नहीं दिया जाता।

Nitin Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned