अगर इस साल होता Olympic, तो भारतीय पुरुष टीम के पास Medal जीतने का अच्छा मौका था: Ashok Kumar

  • COVID-19 के कारण टोक्यो ओलंपिक ( Tokyo Olympic ) एक साल के लिए स्थगित
  • अगर इस साल होता ओलंपिक तो पुरुष टीम के पास मेडल जीतने का अच्छा मौक- Ashok Kumar

By: Kaushlendra Pathak

Published: 16 Jul 2020, 01:56 PM IST

नई दिल्ली। पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना वायरस ( coronavirus in World ) की चपेट में है। इस महामारी ( COVID-19 ) के कारण हर चीज प्रभावित है। संक्रमण फैलने के कारण अब तक कई चीजों पर पाबंदियों पर जारी है। इसी कड़ी में टोक्यो ओलंपिक ( Tokyo Olympic ) को भी अगले साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। वहीं, ओलंपिक मेडलिस्ट ( Olympic Medalist ) अशोक कुमार ( Ashok Kumar ) का कहना है कि अगर इस साल ओलंपिक होता तो भारतीय हॉकी पुरुष टीम ( Mens Hockey Team ) के पास पदक ( Medal ) जीतने का सुनहरा मौका था।

ओलंपिक पुरुष टीम के पास मेडल जीतने का था मौका- अशोक कुमार

म्यूनिख ओलिंपिक ( Munich Olympic ) के कांस्य पदक विजेता अशोक कुमार ( Bronze Medalist Ashok Kumar ) ने अगले साल टीम की फॉर्म को लेकर आशंका जतााई है। क्योंकि, उनका मानना है कि एक बार फिर टीम ( Indian Mens Hockey Team ) को लय हासिल करने की जरूर पड़ेगी। अशोक कुमार का मानना है कि मनप्रीत सिंह ( Manpreet Singh ) की अगुआई वाली भारतीय पुरुष हॉकी टीम इस बार ओलंपिक में पदक जीत सकती थी। एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में अशोक कुमार ने (Ashok Kumar on Olympic ) कहा कि अगर इस साल ओलंपिक होते तो भारत ( India ) के पास निश्चित रूप से कुछ मौके जरूर थे। उन्होंने कहा कि हमने अपने खेल में सुधार किया है और कुछ अच्छे परिणाम जरूर मिल सकते थे।

'COVID-19 ने उम्मीदों पर फेरा पानी'

अशोक कुमार (Ashok Kumar on Mens Hockey Team ) को लगता है कि लंबे ब्रेक के कारण कोच ग्राहम रीड ( Graham Reed ) को भी थोड़ी सावधानी बरतनी होगी। पूर्व ओलंपिक मेडलिस्ट ने कहा कि अभी कोचिंग बंद दरवाजों के अंदर हो रही है। लेकिन, जब तक मैचों में खेलते हुए नहीं देखा जाएगा तब तक आकलन करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि यह कोई मशीन नहीं है। गौरतलब है कि भारत ( Indian Mens Hockey Team ) ने 2019 में शीर्ष रैंकिंग की टीम बेल्जियम को प्रो लीग मुकाबले में 2-1 से शिकस्त दी थी। इसके अलावा फाइनल मुकाबले में आस्ट्रेलिया ( Australia ) के साथ 2-2 का ड्रॉ खेला था। लेकिन, कोरोना महामारी के कारण सब कुछ रुक गया है। उन्होंने कहा कि COVID-19 के कारण खेल जरूर प्रभावित हुआ है लय भी टूटी है। जिसके कारण एक अंतर पैदा हो सकता है। उन्होंने कहा कि अब ये नहीं कहा जा सकता है कि अगले साल हम ओलंपिक में पदक जीतेंगे। अब तक अगले साल का परफॉर्मेंस ही तय करेगा कि हम पदक जीतेंगे या नहीं। उन्होंने ये भी कहा कि महिला टीम भी काफी फॉर्म में थी और ओलंपिक इस साल हुए होते तो काफी अच्छा प्रदर्शन होता। लेकिन, इस महामारी के कारण सबकुछ प्रभावित हो गया है।

Show More
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned