पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने फेसबुक को लिखा खत, इस्लामोफोबिक कंटेंट हटाने का किया आग्रह

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( Pakistan PM Imran Khan ) ने इस्लामाफोबिक कंटेंट ( Islamophobic Content ) को हटाने का आग्रह करते हुए फेसबुक को एक पत्र लिखा है।

 

By: Anil Kumar

Updated: 26 Oct 2020, 05:54 AM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( Pakistan PM imran Khan ) ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को एक खत लिखा है और आग्रह किया है कि फेसबुक पेज पर मौजूद तमाम इस्लामोफोबिक कंटेंट ( Islamophobic Content ) को हटाएं। उन्हो ने पत्र में दावा किया है कि दुनियाभर में मुसलमानों को एक प्रलय जैसा तबाही (Pogrom) कहा जा रहा है।

अभी हाल में फेसबुक की ओर से उठाए गए तमाम कदमों की इमरान खान ने सराहना की जिसमें होलोकोस्ट को अस्वीकार या विकृत करने जैसे कंटेंट को हटाया गया था। इमरान ने उसी तरह से इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से 'इस्लामोफोबिक' पोस्ट के संबंध में समान नियम लागू करने का आग्रह किया।

Pakistan: Imran Khan के करीबी का सनसनीखेज खुलासा, नेपाल में मोदी-शरीफ ने की थी गुप्त मीटिंग

इमरान ने अपने पत्र में लिखा 'मैं होलोकॉस्ट की आलोचना या सवाल उठाने वाली किसी भी पोस्ट पर सही तरीके से प्रतिबंध लगाने के लिए आपके कदम की सराहना करता हूं, जो जर्मनी में यहूदियों के नाज़ी पोग्रोम की परिणति थी और यूरोप भर में नाज़ियों के फैलते ही यूरोप में फैल गई थी। यह उनका विवाद था, उन्होंने कहा कि मुस्लिमों को आज दुनिया भर में 'समान पोग्रोम' का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दुर्व्यवहार और उत्पीड़न भी हो रहा है।’

इमरान खान ने फ्रांस के राष्ट्रपति के बयान की निंदा की

हालांकि इमरान खान ने यह निर्दिष्ट नहीं किया कि किस तरह के कंटेंट को 'इस्लामोफोबिक' समझा जाना चाहिए, लेकिन उन्होंने मुसलमानों के कथित उत्पीड़न के कई उदाहरण दिए। उन्होंने पाकिस्तान के कट्टर-प्रतिद्वंद्वी भारत पर आरोप लगाया कि देश की सरकार भेदभावपूर्ण कानूनों को लागू करने के लिए, 'मुसलमानों की लक्षित हत्याओं का अभ्यास करने और कोरोना वायरस के लिए मुसलमानों को दोषी ठहरा रही है।’

Pakistan: PoK पर Imran Khan की नापाक चाल, गिलगिट-बाल्टिस्तान को 5वां प्रांत बनाने की तैयारी

इमरान खान ने फ्रांस की भी आलोचना की जहां 'इस्लाम आतंकवाद से जुड़ा हुआ है,' जबकि मुस्लिम विरोधी 'निन्दात्मक कार्टून' के प्रकाशन को प्रोत्साहित किया जाता है। एक दिन पहले ही इमरान खान ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की निंदा की थी और दावा किया था कि उन्होंने आक्रामक कार्टून के प्रदर्शन का समर्थन करके 'इस्लाम पर हमला' किया है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned