फ्रांस के जैज फेस्टिवल में दिखेगा राजस्थानी धोद बैंड का जलवा

जयपुर के रहीस भारती के निर्देशन में प्रदेश के लोक कलाकार देंगे प्रस्तुति, लॉकडाउन के दौर से ही फ्रांस में डटे हुए हैं कलाकार, लोगों के बीच देंगे प्रस्तुति

By: Anurag Trivedi

Published: 08 Sep 2020, 04:05 PM IST


जयपुर. पिंकसिटी का धोद गु्रप एक बार फिर फ्रांस में राजस्थानी म्यूजिक के जरिए विशेष छाप छोडऩे जा रहा है। शहर के म्यूजिशियन रहीस भारती के निर्देशन में धोद गु्रप वल्र्ड फेमस फ्रांस के जैज सूस फेस्टिवल में प्रस्तुति देने जा रहा है। यह फेस्ट पिछले ४० साल से आयोजित हो रहा है और इसमें दुनियाभर के दिग्गज म्यूजिशियन परफॉर्म करते हैं। पत्रिका प्लस से बात करते हुए रहीस ने बताया कि कोरोना काल से पहले हमारा गु्रप यूरोप टूर पर निकला था, लेकिन लॉकडाउन में हम फ्रांस में ही रह गए। अब धीरे-धीरे न्यू नॉर्मल हो रहा है और हम लाइव परफॉर्मेंस के लिए जाने लगे हैं। राजस्थानी धोद बैंड के कलाकारों के साथ पेरिस के अलग—अलग शहरों में तीन दिनों तक लाइव शो करेंगे।

ओपेरा हॉल में भी होगी परफॉर्मेंस

रहीस ने बताया कि 18 सितंबर को पेरिस के पास सेरी शहर में लाइव परफॉर्मेंस देंगे, जबकि दूसरे दिन 19 सितंबर को ओपरा डेस स्टार्सबर्ग हॉल में लाइव शो होगा। इसके लिए उनकी खास तैयारियां चल रही है। ओपेरा हॉल में परफॉर्म करना हमारे लिए भी गर्व की बात है। इस जगह दुनियाभर के दिग्गज परफॉर्म करते हैं। उन्होंने बताया कि इन दो शो के अलावा 20 सितंबर को फ्रांस में जैज़ सूस लेस पॉमियर्स कॉउटेंस फेस्टिवल के 40 साल के जश्न का गवाह बनना हमारे लिए सौभाग्य की बात होगी, क्योंकि इस शो में उन्हें भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलेगा। इस कॉन्सर्ट के लिए यहां के राष्ट्रीय हॉल के ऑडिटोरियम को तैयार किया जा रहा है, जहां पर लोगों को दूर-दूर बैठाया जाएगा और सभी को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
नया प्रयोग नई रचनाएं होंगी पेश

रहीस ने बताया कि संकट के समय में भी राजस्थान के कलाकार विदेशी धरती पर लोगों के साथ खुशियां बांटने का काम कर रहे हैं। भले ही पेरिस में लॉकडाउन खुल गया हो, लेकिन अभी भी कोरोना की वजह से लोग सहमे हुए हैं। ऐसे में लोगों के स्ट्रेस को दूर करने के लिए कई म्यूजिकल कंपनियां और सरकार की ओर से ऐसे शो आयोजित किए जा रहे हैं, जिनकी वजह से कोरोना के स्ट्रेस को दूर किया जा सके। इसी कड़ी में धोद गु्रप को इस फेस्टिवल के लिए इनवाइट किया गया है। उन्होंने बताया कि इस खास मौके के लिए उन्होंने अपने संगीत में किए नए प्रयोग और नई रचनाओं को पेश करने फैसला किया है। जिसके तहत एक राजस्थानी मांड के अलावा कोरोना पर बनाई गई स्पेशल धुन भी पेश करेंगे।

११० देशों में १२०० से ज्यादा शो

हीस भारती ने 20 सालों में अपने धोद बैंड के माध्यम से 110 देशों में करीब 1200 सौ से ज्यादा कार्यक्रम पेश किए है। रहीस भारती को विदेशों में राजस्थान की संस्कृति का राष्ट्रदूत कहा जाता है। उन्होंने इग्लैंड की रानी एलिजाबेथ की लंदन में मनाई जाने वाली डायमंड जुबली समारोह से लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेशों में होने वाले स्वागत समारोह और फ्रांस सहित अन्य देशों के राष्ट्रपति के स्वागत समारोह में अपनी प्रस्तुतियों के जरिए राजस्थानी लोक संगीत व संस्कृति का परचम लहराया है।

Anurag Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned