Amarnath Yatra 2021: अस्थायी रूप से बंद हुआ अमरनाथ यात्रा का पंजीकरण, ये है वजह

22 अगस्त को रक्षाबंधन वाले दिन संपन्न होनी है यात्रा...

हरिद्वार महाकुम्भ में कोरोना संक्रमण के साये के बाद अब ये खतरा श्री अमरनाथ की वार्षिक तीर्थयात्रा-2021 पर मंडराने लगा है। कोरोना संक्रमण के इस खतरे को देखते हुए श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने अमरनाथ यात्रा के लिए जारी पंजीकरण की प्रकिया अस्थायी तौर पर गुरुवार को बंद कर दी। इससे पहले 13 मार्च 2021 को अमरनाथ यात्रा 2021 की तारीखों की घोषणा की गई थी।

इसके अनुसार साल 2021 में 28 जून से 22 अगस्त तक अमरनाथ यात्रा चलनी थी। लेकिन अब 28 जून को शुरु होने वाली पवित्र गुफा की वार्षिक तीर्थयात्रा के एक बार फिर बोर्ड के इस फैसले से रद्द होने की आशंका भी बढ़ गई है।

इसे पहले साल 2020 में भी पवित्र गुफा की वार्षिक तीर्थ यात्रा को कोविड-19 एसओपी के तहत स्थगित रखा गया था और सिर्फ पवित्र छड़ी मुबारक ही वार्षिक पूजन के लिए पवित्र गुफा तक पहुंची थी।

MUST READ : इन पापों को कभी क्षमा नहीं करते भगवान शिव, महादेव के कोप से बचना है तो भूलकर भी न करें ये कर्म

lord shiv

दरअसल साल 2021 में 28 जून से 22 अगस्त तक अमरनाथ यात्रा का फैसला अमरनाथ यात्रा श्राइन बोर्ड की मीटिंग में मार्च 2021 में लिया गया। जिसके अनुसार इस बार अमरनाथ यात्रा 56 दिन तक चलनी थी।

इस फैसले के बाद से अमरनाथ यात्रा को लेकर जम्मू-कश्मीर प्रशासन की तरफ से तैयारियों को शुरू कर दी गयी थी। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की बैठक हुई। वहीं इसके तहत श्रद्धालुओ के 1 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन होने थे, जिसकी प्रक्रिया शुरू हो गई थी, जबकि ऑनलाइन प्रक्रिया भी गत 15 अप्रैल से शुरू हुई थी।

सामने आ रही जानकारी के अनुसार केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में लगातार बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ने अमरनाथ यात्रा की पंजीकरण प्रक्रिया को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है।

READ MORE : भगवान शिव का स्वरूप बाकी के देवताओं से बिल्कुल भिन्न क्यों? जानें उनसे जुड़े बेहद खास रहस्य

lord shankar ji

बोर्ड द्वारा लगातार स्थिति पर नजर रखी जा रही है और हालात में सुधार होते ही पंजीकरण प्रक्रिया को एक बार फिर से बहाल कर दिया जाएगा। ज्ञात हो कि इस बार यात्रा 28 जून से शुरू होकर 22 अगस्त को रक्षाबंधन वाले दिन संपन्न होनी है।

बताया जाता है कि इस बार श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड की ओर से इस बार छह लाख श्रद्धालुओं के आने का बंदोबस्त किया गया है। लेकिन इसी समय कोरोना संकमण के मामलों में लगातार वृद्धि के बीच पिछले दो दिनों में चार हजार से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं।

इसी स्थिति को मद्देनजर रखते हुए श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड की ओर से फिलहाल पंजीकरण अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned