जलती चिता से पुलिस ने निकलवाया विवाहिता का शव, जानिए पूरा मामला

suchita mishra | Publish: Jul, 26 2019 11:49:10 AM (IST) Pilibhit, Pilibhit, Uttar Pradesh, India

विवाहिता की मौत के बाद ससुराल पक्ष ने बिना किसी को जानकारी दिए शमसान में ले जा कर शव का दाह संस्कार कर दिया था।

 

पीलीभीत। थाना जहानाबाद क्षेत्र में एक विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मौत के बाद ससुराल पक्ष ने बिना किसी को जानकारी दिए शमसान में ले जा कर शव का दाह संस्कार कर दिया। घटना के बाद मृतका के परिजनों ने ससुराजीजनों पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने शमसान घाट पर पहुंचकर जलती चिता में से शव को निकलवाया फिर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

ये है पूरा मामला
बदायूं के उझानी निवासी हरिओम उत्तराखंड के रुद्रपुर में रहकर नौकरी करते हैं। उनकी पुत्री 30 वर्षीय बेटी रचना का विवाह 24 फरवरी को थाना जहानाबाद क्षेत्र के ग्राम बरातबोझ के निवासी हर्षित गुप्ता पुत्र धर्मपाल गुप्ता से हुआ था। दोनों ने प्रेम विवाह किया था। आरोप है कि विवाह के बाद ससुरालीजन दहेज की मांग करके उसे प्रताड़ित करने लगे थे। बीते गुरुवार को हर्षित और उसके पिता ने मायके में फोन करके रचना की तबियत खराब होने की बात कही। माता—पिता रचना को देखने के लिए उसके ससुराल पहुंचे तो ससुराल पक्ष के लोगों ने उन्हें घर के अंदर नहीं घुसने दिया और रचना के शव को घर के पिछले दरवाजे से शमशान घाट पर ले गए और अंतिम संस्कार कर दिया।

जब रचना के परिजनों को उसके शव के दाह संस्कार करने की सूचना मिली तो उन्होंने तत्काल पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद पुलिस शमशान घाट पहुंची और जलती चिता में से शव को बाहर निकाला। लेकिन तब तक शव काफी जल चुका था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में इंस्पेक्टर जहानाबाद कमल सिंह ने बताया कि अभी कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलने पर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned