BJP पर कांग्रेस के 3 बड़े नेताओं का तीखा प्रहार, चीन से जमीन वापस लें PM Modi

 

  • Indian Territories में चीनियों ने नए सैन्य ढांचे खड़े किए।
  • Modi Government के पास कोविद-19 को हराने की कोई योजना नहीं है।
  • BJP president JP Nadda आधा सच बोलने में माहिर हैं।

By: Dhirendra

Updated: 27 Jun 2020, 06:25 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच गलवान घाटी ( Galwan Valley ) में हिंसक और कोरोना वायरस संकट ( Coronavirus Crisis ) को लेकर कांग्रेस ( Congress ) लगातार मोदी सरकार ( Modi Government ) पर सवाल खड़े कर रही है। शनिवार को कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं से मोदी सरकार और बीजेपी पर एक साथ हमला बोला है। कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इन मुद्दों पर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। चीन की इस दुस्साहसपूर्ण घुसपैठ से भारत की सरजमीं वापस लेनी चाहिए।

मोदी सरकार के रुख पर सवाल खड़ा किया

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ( Congress leader Kapil Sibal ) ने वीडियो लिंक के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और चीन से लगी सीमा को लेकर मोदी सरकार के रुख पर सवाल खड़ा किया। कपिल सिब्बल ने कहा कि इस बारे में प्रधानमंत्री को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और चीन की इस दुस्साहसपूर्ण घुसपैठ से भारत की सरजमीं वापस लेनी चाहिए। सिब्बल ने कहा कि सैटेलाइट इमेज, सेना के जनरलों और सुरक्षा विशेषज्ञों द्वारा इन चित्रों का विश्लेषण प्रदर्शित करते हैं कि 6 जून, 2020 से पहले और बाद में पैंगोंग झील में फिंगर-4 और फिंगर-8 के बीच भारतीय इलाके में चीनियों ने नए सैन्य ढांचे खड़े किए हैं। यह चिंता की बात है। 15 और 16 जून की दरम्यानी रात 16 बिहार रेजिमेंट के कर्नल बी संतोष बाबू सहित हमारे 20 जवान शहीद हुए।

सच्चाई से गुरेज न करें पीएम

उन्होंने कहा कि अभी भी देर नहीं हुई है। प्रधानमंत्री को जानबूझकर दिए गए भ्रामक बयानों को वापस लेना चाहिए। जब मामला भारत की सुरक्षा का हो तो प्रधानमंत्री को सच्चाई बयान करने से गुरेज़ नहीं करना चाहिए। ताकि देश को नेतृत्व ( Leader of the Country ) पर विश्वास हो। ऐसा न करने पर चीन उनके बयान का इस्तेमाल अपने नाज़ायज़ फायदे के लिए करेंगे। इससे विश्वभर में भारत के हितों ( Indian interest ) को नुकसान पहुंचेगा।

Gurugram पहुंचा टिड्डियों का आतंक, दिल्ली में गोपाल राय ने बुलाई Emergency Meeting

प्रधानमंत्री खामोश हैं

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने ट्वीट कर कहा कि कोविद-19 ( Covid-19 ) देश के नए हिस्सों में तेजी से फैल रहा है। भारत सरकार की उसे हराने की कोई योजना नहीं है। प्रधानमंत्री खामोश हैं। उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया है और वे महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ने से इनकार कर रहे हैं। राहुल गांधी का बयान उस समय में आया जब 6 दिनों में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक लाख का इजाफा हुआ है।

Delhi में एक दिन में हुई रिकॉर्ड 21,144 Corona Testing, 4 गुना बढ़ी जांच की संख्या - अरविंद केजरीवाल

नड्डा आधा सच बोलने में माहिर हैं

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ( Former Union Minister P Chidambaram ) ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा आधा सच बोलने में माहिर हैं। अगर मान लें कि राजीव गांधी फाउंडेशन (Rajiv Gandhi Foundation ) 20 लाख रुपए लौटा देता है तो क्या पीएम मोदी ( pm modi ) देश को भरोसा दिलाएंगे कि चीन भारत की जमीन खाली करेगा और यथास्थिति बहाल करेगा?

चिदंबरम ने ट्वीट किया कि बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा आधा सच बोलने में माहिर हैं। मेरे सहयोगी रणदीप सुरजेवाला ने कल उनकी आधी सच्चाई उजागर की। आरजीएफ को 15 साल पहले मिले अनुदान को मोदी सरकार की निगरानी में 2020 में चीन का भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ से क्या लेना देना है।

Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned