धर्मेंद्र का बड़ा बयान, पहले पता होता कि सनी का मुकाबला जाखड़ से है तो मैं लड़ने से मना कर देता

  • अभिनेता धर्मेंद्र का बड़ा बयान
  • पहले पता होता तो सनी को नहीं लड़ने देते चुनाव
  • जाखड़ के खिलाफ बेटे को लड़ने से रोकते

By: धीरज शर्मा

Updated: 13 May 2019, 01:44 PM IST

नई दिल्ली। अभिनेता धर्मेंद्र देओल ने बेटे सनी देओल को लेकर एक सनसनीखेज बयान दे डाला है। बकौल धर्मेंद्र अगर उन्हें पहले पता होता कि सनी देओल का मुकाबला सुनील जाखड़ से है, तो वे उन्हें चुनाव लड़ने से ही मना कर देते। दरअसल हाल में अभिनेता से नेता बने सनी देओल इस बार पंजाब की गुरदासपुर लोकसभा सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में बेटे के लिए चुनाव प्रचार पर गुरदासपुर पहुंचे धर्मेंद्र ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सुनील जाखड़ के पिता बलराम जाखड़ उनके बहुत अच्छे दोस्त थे। यही वजह है कि जब उन्हें राजस्थान में बलराम जाखड़ के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए भाजपा ने कहा तो उन्होंने इनकार कर दिया था।

धर्मेंद्र ने कहा कि हम नेता नहीं, सेवक बनकर लोगों की सेवा करने आए हैं। अगर पहले पता होता कि सनी के खिलाफ बलराम जाखड़ के बेटे सुनील जाखड़ चुनाव लड़ रहे हैं तो शायद हम मना कर देते। धर्मेंद्र ने कहा कि बीकानेर से चुनाव लड़ने से पहले भाजपा ने पटियाला से चुनाव लड़ने की पेशकश की थी, लेकिन देखा कि उस सीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी परनीत कौर चुनाव लड़ रही हैं। वह उनका बहुत सम्मान करते हैं और परनीत कौर उनकी बहन की तरह है। इसलिए मैंने वहां से चुनाव लड़ने के लिए मना कर दिया।'

तूफानी प्रचार के बीच सनी देओल की कसरत करती वीडियो हुई वायरल, धर्मेंद्र बोले-खुदा का नेक बंदा


धर्मेंद्र ने आगे कहा कि उन्हें लुधियाना से भी चुनाव लड़ने के लिए कहा गया, लेकिन वहां से चुनाव मैदान में उतरे ढिल्लों ने कहा कि वह भाई बनकर यहां से चुनाव न लड़े। इसके बाद मैंने पंजाब से चुनाव लड़ने का खयाल ही मन से निकाल दिया। इसके बाद जब राजस्थान से चुनाव लड़ने की बात हुई तो पहले चुरु जहां बलराम जाखड़ के खिलाफ लड़ने का ऑफर दिया गया जिसे भी मैंने ठुकरा दिया। आखिर में मुझे बीकानेर सीट से चुनाव लड़ाया गया।

 

सिद्धू को बताया बिछड़ा हुआ बेटा

यही नहीं धर्मेंद्र ने बताचीत में कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि सिद्धू से उनका गहरा नाता बन चुका है। जिस तरह सिद्धू ने यहां मुझे प्यार दिया है ऐसा लगा मानो कोई बिछड़ा हुआ बेटा मिल गया हो।

 

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned