नवजोत सिंह सिद्धू के पुराने दफ्तार से फाइलें गायब, 1,144 करोड़ के घोटाले की फाइल भी गुम

नवजोत सिंह सिद्धू के पुराने दफ्तार से फाइलें गायब, 1,144 करोड़ के घोटाले की फाइल भी गुम

Chandra Prakash Chourasia | Updated: 19 Jul 2019, 10:03:59 PM (IST) राजनीति

  • Navjot Singh Sidhu को लेकर आया नया विवाद
  • पुराने दफ्तर से गायब हुईं दो सरकारी फाइलें
  • Amarinder Singh से जुड़े घोटाले की फाइल भी गुम

नई दिल्ली। नवजोत सिंह सिद्धू बेशक पंजाब कैबिनेट के मंत्री पद से इस्तीफा दे चुके हैं लेकिन विवाद अभी थमा नहीं है। Navjot Singh Sidhu के पिछले विभाग यानी लोकल गवर्नमेंट विभाग से दो महत्वपूर्ण सरकारी फाइलें गायब हैं।

फाइलों के गायब होने की जानकारी सिद्धू का मंत्रालय बदले जाने के बाद मिली है। खबर बाहर आते राजनीतिक गलियारे में खलबली मच गई है।

घोटाले की फाइल भी गायब

विभाग से जो दो फाइलें गायब हैं, उनमें एक मुख्यमंत्री Amarinder Singh के 1,144 करोड़ रुपए के लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले से जुड़ी है।

लोकल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट की दूसरी गायब फाइल लुधियाना में कृषि भूमि पर अनधिकृत निर्माण से संबंधित शामिल है।

सिद्धू को अनिल विज ने बताया BJP का रिजेक्टेड, AAP ने दिया साथ आने का न्यौता

सीएम और बेटे का नाम भी था शामिल

सिटी सेंटर घोटाला सामने आने बाद कैप्टन अपने पिछले कार्यकाल में बुरी तरह से घिर गए थे। हालांकि विजलेंस ब्यूरो ने अमरिंदर सिंह, उनके बेटे रनिंदर सिंह और अन्य को लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में पहले ही क्लीन चिट दे चुकी है।

amarinder singh

विभाग ने दिए जांच के आदेश

लोकल गवर्नमेंट मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने गायब फाइलों के लिए विभागीय जांच का आदेश दिए हैं, जिसमें लुधियाना में परियोजना को मंजूरी दिए जाने की भी फाइल है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जो फाइलें गायब हैं उनके बारे में पता लगाया जा रहा है।

हम सिद्धू से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। शायद उनको इस बारे में कोई जानकारी हो सकती है।

शायराना अंदाज में झलका पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का दर्द, शेरी ने ठोके 'शेर'

सीएमओ की भी है नजर

वहीं मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी चीफ सेक्रेटरी और विभागीय सेक्रेटरी से फाइलों का पता लगाने के लिए कहा है।

छह जून को बदला गया सिद्धू का विभाग

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 6 जून को कैबिनेट में फेरबदल करते हुए सिद्धू से लोकल गवर्नमेंट और पर्यटन-संस्कृति का पोर्टफोलियो छिन लिया।

इसके स्थान पर उन्हें बिजली और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत मंत्रालय दिया गया।

14 जुलाई को सिद्धू ने दिया इस्तीफा

मंत्रालय बदले जाने से नाराज सिद्धू ने 14 जुलाई को अमरिंदर कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। हालांकि अबतक उनका इस्तीफ मुख्यमंत्री ने स्वीकार नहीं किया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned