scriptBaloda Bazar Violence: जनाधार पाने की नई सीढ़ी – बलोदा बाजार हिंसा पर राजनीति, मायावती ने की एन्ट्री | Baloda Bazar Violence: Mayawati is new entrant into Baloda Bazar violence politics | Patrika News
रायपुर

Baloda Bazar Violence: जनाधार पाने की नई सीढ़ी – बलोदा बाजार हिंसा पर राजनीति, मायावती ने की एन्ट्री

Baloda Bazar Violence: छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में 10 जून को सतनामी आस्था के केंद्र अमर गुफा में असमाजिक तत्वों द्वारा तोड़फोड़ की घटना पर बहुजन समाज पार्टी की प्रतिक्रिया सामने आई है।

रायपुरJun 26, 2024 / 07:51 am

Khyati Parihar

Baloda Bazar Violence
Baloda Bazar Violence: छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार में 10 जून को सतनामी आस्था के केंद्र अमर गुफा में असमाजिक तत्वों द्वारा तोड़फोड़ की घटना पर बहुजन समाज पार्टी की प्रतिक्रिया सामने आई है। मायावती ने निर्दोषों की तत्काल रिहाई और शरारती तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग की है। पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शांति का टापू है और इसे बनाए रखने कि हर संभव कोशिश की जाएगी।

जय स्तंभ को काटकर फेंक दिया जाना अति-चिन्ताजनक: मायावती

मायावती ने ‘X’ पर पोस्ट करते हुए लिखा, “छत्तीसगढ़ में सतनामी समाज के आस्था के केंद्र गिरौदपुरी से लगा हुआ अमर गुफा में असामाजिक तत्वों के द्वारा परमपूज्य बाबा गुरूघासी दास जी के जय स्तंभ को काटकर फेंक दिया जाना अति-चिन्ताजनक।”
मायावती ने कहा “इसके विरोध में सतनामी समाज द्वारा सीबीआई जांच की मांग को लेकर बलौदा बाजार में किये गये धरना प्रदर्शन के दौरान कलेक्टर परिसर में षड्यंत्रकारी असामाजिक तत्वों द्वारा की गई तोड़-फोड़ आदि की घटना भी अति निदंनीय है उक्त घटना की आड़ में शासन प्रशासन द्वारा निर्दोष सतनामी समाज के लोगों की गिरफ्तारी व मारपीट के ऊपर रोक लगाई जाये तथा उन्हें बिना शर्त तत्काल रिहा किया जाये व असली दोषियों के ऊपर जांच कर कार्यवाही की जाए।”
गौरतलब है कि बलौदा बाजार में हुई हिंसक घटना को लेकर भी पुलिस ने कई आरोपियों को हिरासत में लिया। वहीं, विपक्ष का कहना है कि छत्तीसगढ़ पुलिस बेगुनाहों पर कार्रवाई कर रही है।

Baloda Bazar Violence: छत्तीसगढ़ शांति का टापू: साय

मायावती बयान पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शांति का टापू है और इसे बनाए रखने कि हर संभव कोशिश की जाएगी। कुछ निहित स्वार्थी तत्व राजनीतिक प्रश्रय पा कर समाज में विष बोने का काम कर रहे हैं, उनसे कड़ाई से निपटा जाएगा। मुख्यमंत्री ने उपद्रवियों की निंदा किए जाने पर बसपा सुप्रीमो मायावती का आभार व्यक्त किया है।

छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी की स्थिति

Baloda Bazar Violence
यह भी पढ़ें

NEET UG 2024: नीट क्वालीफाई करने वाले 22300, सबको डर – काउन्सलिंग होगा या फिर देनी होगी परीक्षा

Hindi News/ Raipur / Baloda Bazar Violence: जनाधार पाने की नई सीढ़ी – बलोदा बाजार हिंसा पर राजनीति, मायावती ने की एन्ट्री

ट्रेंडिंग वीडियो