मरवाही उपचुनाव: BJP ने 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की, लिस्ट में आदिवासी नेताओं को तवज्जो

- मरवाही उपचुनाव (Marwahi Bypoll) के लिए बीजेपी के स्टार प्रचारकों की सूची जारी
- स्टार प्रचारकों की लिस्ट (BJP Star campaigners) में आदिवासी नेताओं को ज्यादा प्राथमिकता

By: Ashish Gupta

Published: 15 Oct 2020, 09:06 PM IST

रायपुर. भारतीय जनता पार्टी ने मरवाही उपचुनाव (Marwahi Bypoll) के लिए अपने स्टार प्रचारकों (BJP Star campaigners list) की सूची जारी कर दी है। सूची में आदिवासी नेताओं को ज्यादा प्राथमिकता दी गई है। इस सूची में कद्दावर मंत्री रहे राजेश मूणत का नाम शामिल नहीं है। जबकि कई पूर्व मंत्रियों को स्टार प्रचारकों की सूची में रखा गया है।

भाजपा की ओर से जारी स्टार प्रचारकों की सूची में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह, केन्द्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, राज्यसभा सांसद सरोज पाण्डेय, रामविचार नेताम, नंदकुमार साय, पवन साय, विक्रम उसेंडी, रामप्रताप सिंह, सासंद अरूण साव, मोहन मंडावी, गोमती साय, विधायक ननकीराम कंवर, पुन्नूलाल मोहले, बृजमोहन अग्रवाल, अमर अग्रवाल, अजय चन्द्राकर, नारायण चंदेल, शिवरतन शर्मा, केदार कश्यप, रामसेवक पैकरा, लता उसेंडी, गणेश राम भगत, भूपेन्द्र सवन्नी, डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी, सौरभ सिंह, प्रबल प्रताप सिंह जूदेव व विकास मरकाम शामिल हैं।

मरवाही उपचुनाव: त्रिकोणीय मुकाबले ने राजनीतिक दलों की बढ़ाई धड़कनें

भाजपा (BJP) ने डॉ गंभीर सिंह को चुनाव मैदान में उतारा

भाजपा (BJP) ने अनुसूचित जनजाति आरक्षित मरवाही सीट के लिए डॉ गंभीर सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है। डॉक्टर गंभीर सिंह पेशे से एक चिकित्सक हैं। वे मरवाही विकासखंड के लट कोनी खुर्द के रहने वाले हैं। उनका जन्म 11 जून 1968 को मरवाही के गोंड परिवार में हुआ था।

गंभीर सिंह ग्वालियर मेडिकल कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में सेवा दे चुके हैं। 2005 में रायपुर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में बतौर एसोसिएट प्रोफेसर कार्य शुरू किया। इनकी पत्नी मंजू जानी मानी डॉक्टर हैं। डॉक्टर गंभीर सिंह के पिता बेन सिंह गोंडवाना आंदोलन में हिस्सा ले चुके हैं।

कोरोना संक्रमित कम मिलने से कोविड सेंटर हो रहे बंद, होम आइसोलेशन फॉर्मूला सफल

पहले भी चुनाव के लिए नाम आया था बताया जाता है 2013 के चुनाव में भी गंभीर सिंह का नाम प्रमुखता से बीजेपी की ओर से था। बाद में समीरा पैकरा को प्रत्याशी बनाया गया पर इस बार बीजेपी ने इन्हें अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। हालांकि यह भी सत्य है कि छत्तीसगढ़ बनने के बाद से बीजेपी कभी भी मरवाही विधानसभा सीट नहीं जीत सकी पर गंभीर सिंह को विश्वास है कि वह इस बार यह मिथक तोड़ देंगे।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned