script CG Election 2023: जिन्हें वोटिंग कराने का जिम्मा उन्होंने ही नहीं किया मतदान, ऑफिसर कॉलोनी में 890 वोटर और 354 ने किया मतदान | CG Election 2023: Those who were responsible for voting did not vote | Patrika News

CG Election 2023: जिन्हें वोटिंग कराने का जिम्मा उन्होंने ही नहीं किया मतदान, ऑफिसर कॉलोनी में 890 वोटर और 354 ने किया मतदान

locationरायपुरPublished: Nov 18, 2023 12:19:55 pm

CG Election 2023: जिले में मतदान शुरू होते ही सुबह से प्रशासन के अधिकारी वोटिंग करके अपने फोटो सोशल मीडिया में शेयर करने लगे थे, जिससे आम वोटर मतदान करने के लिए प्रेरित हों।

raipur_1.jpg
रायपुर। CG Election 2023: जिले में मतदान शुरू होते ही सुबह से प्रशासन के अधिकारी वोटिंग करके अपने फोटो सोशल मीडिया में शेयर करने लगे थे, जिससे आम वोटर मतदान करने के लिए प्रेरित हों। देवेंद्र नगर ऑफिसर्स कॉलोनी में 890 वीआईपी वोटर के नाम दर्ज हैं। यहां बने आदर्श मतदान केंद्र में सुबह 8 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक सिर्फ 354 वोटर ही पहुंचे। चौंकाने वाली बात यह है कि ग्रामीण और बस्ती इलाकों के पोलिंग बूथों में वोटिंग का प्रतिशत 80 फीसदी तक रहा है।
दूसरी ओर आईएएस और आईपीएस रैंक के अधिकारी व उनके परिवार जहां रहते हैं, वहां 46 प्रतिशत ही मतदान हुआ है। पहले भी इस तरह की आंकड़े सामने आए हैं कि शिक्षित वर्ग लोग मतदान में कम शामिल होते हैं। देवेंद्र नगर ऑफिसर्स कॉलोनी में ऐसे अधिकारी निवास करते हैं जिन्हें वोटिंग कराने का जिम्मा मिला था। इसके बाद भी अधिकांश अधिकारी वोटिंग करने के लिए नहीं निकले।
यह भी पढ़ें

गिनती की बसों के चलने और भारी भीड़ देखकर यात्रियों ने ऑटो में किया सफर



बनाया गया था आदर्श मतदान केंद्र
देवेंद्र नगर ऑफिसर्स कॉलोनी में आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया था। यहां अधिकारियों के लिए सेल्फी जोन भी लगाया गया था। पत्रिका की टीम जब शाम 4: 50 पर पहुंची तो पोलिंग बूथ सूना पड़ा था। बता दें कि सिर्फ अफिसर्स कॉलोनी के लिए अगल से मतदान केंद्र बनाया गया था।
यह भी पढ़ें

CG Phase Second Voting: मतदाताओं के साथ लाइन में खड़े रहे कलेक्टर, बोले- मेरी बारी आएगी तब ही करूंगा वोटिंग



छुट्टी लेकर वोटिंग करने पहुंचे मजदूर
इसके विपरीत उरला और सिलतरा इलाके के मजदूरों में वोटिंग का प्रतिशत बढ़ा हुआ दिखा। अधिकांश मजदूर छुट्टी लेकर मतदान करने पहुचे थे। वोटिंग करने उन्हें फिर से काम में लौटना था। इसी तरह बस्ती इलाकों के बूथ में सुबह से लेकर शाम तक लंबी कतरों देखने को मिली।

ट्रेंडिंग वीडियो