scriptCG Tribals protest against letter of Rajasthan govt over coal block | कोल ब्लॉक को लेकर राजस्थान सरकार की चिट्ठी के खिलाफ आदिवासी हुए एकजुट, मंत्री ने कही ये बात | Patrika News

कोल ब्लॉक को लेकर राजस्थान सरकार की चिट्ठी के खिलाफ आदिवासी हुए एकजुट, मंत्री ने कही ये बात

परसा कोल ब्लॉक (Coal Block) के आवंटन को लेकर राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) की चिट्ठी के बाद आदिवासी एकजुट होने शुरू हो गए हैं। गांव के प्रभावित ग्रामीण सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेंगे।

रायपुर

Updated: December 22, 2021 05:15:32 pm

रायपुर. परसा कोल ब्लॉक के आवंटन को लेकर राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) की चिट्ठी के बाद आदिवासी एकजुट होने शुरू हो गए हैं। वे इस बात से नाराज है कि आखिरी राजस्थान सरकार की ओर से लिखा पत्र मीडिया में कैसे सार्वजनिक हो गया है। उनका आरोप है कि राजस्थान और छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) मिलकर परसा कोल ब्लॉक का देने का प्रयास कर रहे हैं। जबकि छत्तीसगढ़ सरकार ने आश्वासन दिया था कि फर्जी ग्राम सभा मामलों की जांच की जाएगी। गांव के प्रभावित ग्रामीण सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करेंगे। ग्रामीणों ने साफ कह दिया है कि किसी भी कीमत पर वे अपनी जमीन नहीं देंगे।
coal_3383213_835x547-m.jpg
कोल ब्लॉक को लेकर राजस्थान सरकार की चिट्ठी के खिलाफ आदिवासी हुए एकजुट, मंत्री ने कही ये बात
बता दें कि कोल ब्लॉक के आवंटन को लेकर हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति लंबे समय से आंदोलन कर रही है। आंदोलन से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता आलोक शुक्ला का कहना है, कोल ब्लॉक के विरोध में ग्रामीण 300 किलोमीटर की पदयात्रा कर रायपुर पहुंचे थे। यहां राज्यपाल और मुख्यमंत्री से मुलाकात हुई थी।
ग्रामीणों ने फर्जी ग्रामसभा कर कोल ब्लॉक के लिए अनुमति देने का आरोप लगाया था। उस समय राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि इस मामले की जांच कराई जाएगी। इस मामले में जांच का तो पता नहीं, लेकिन दवाब बनाने का खेल शुरू हो गया है। उन्होंने सवाल उठाया कि जो कोल ब्लॉक शुरू ही नहीं हुआ है, उससे राजस्थान सरकार को कैसा संकट आ सकता है।
टीएस सिंहदेव ने दिया था समर्थन
इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने हसदेव अरण्य बचाओ आंदोलन का खुलकर समर्थन किया था। उन्होंने कहा था कि इस क्षेत्र में खनन पूरी तरह से रोक लगनी चाहिए।
मंत्री चौबे बोले-राजस्थान सरकार ने जिस कंपनी को ठेका दिया उससे आपत्ति
मंत्री रविन्द्र चौबे ने राजस्थान के मुख्यमंत्री की ओर से सोनिया गांधी को लिखे पत्र पर कहा, इसके शिकायत के रूप में नहीं लेना चाहिए। सोनिया गांधी हम सब की नेता है। राजस्थान के मुख्यमंत्री को लगा कि कोल की आपूर्ति शीघ्र होनी चाहिए और परसा कोल ब्लॉक टू राजस्थान सरकार को आवंटित है, लेकिन राजस्थान सरकार ने कोयला उत्खनन का काम जिस कंपनी को दिया है, उसे लेकर छत्तीसगढ़ सरकार को थोड़ी आपत्ति है।
उन्होंने कहा, यदि पत्र सोनिया जी के पास पहुंच गया है, तो हमारे मुख्यमंत्री दिल्ली गए है। वे बात करेंगे और उनके निर्देश का पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा, महत्वपूर्ण यह नहीं है कि राजस्थान के पास कितना कोयला बचा है। महत्वपूर्ण यह है कि सोनिया जी को किस तरह से पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है।
उन्होंने कहा, छत्तीसगढ़ के कोल ब्लॉक के मामले में लगातार हमारी बातें केंद्र सरकर के साथ चल रही थी। छत्तीसगढ़ में लेमरू एलीफेंट प्रोजेक्ट के कारण मामला अभी तक लंबित है। एलीफेंट कॉरिडोर पर फैसला कैबिनेट का जिसे नहीं बदला जा सकता है। राजस्थान सरकार, उत्तर प्रदेश से बिजली खरीद रही है, लेकिन कांग्रेस शासित राज्य कांग्रेस शासित राज्य को कोयला नहीं दे रहा है। इस सवाल का जवाब देते हुए रविंद्र चौबे ने कहा कि बिजली वितरण में नेशनल ग्रिड का सवाल रहता है। हम अगर अतिरिक्त बिजली पैदा करते हैं तो नेशनल ग्रिड में डाला जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.