कुलपति की रेस में राज्यसभा टीवी के पूर्व कार्यकारी निदेशक उर्मिलेश उर्मिल है सबसे आगे, जनवरी तक हो सकती है नियुक्ति

० कमेटी द्वारा प्रस्तावित नामों पर फाइनल मुहर लगेगी जल्द

० जनवरी माह में केटीयू के नए कुलपति संभालेंगे कमान

 

 

रायपुर. कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्व विद्यालय में नए कुलपति की तलाश आचार संहिता की वजह से अटक गई हे। मौजूदा स्थित में कुलपति की रेस में सबसे आगे राज्यसभा टीवी के पूर्व कार्यकारी निदेशक उर्मिलेश उर्मिल का नाम सबसे आगे चल रहा है।

हालांकि कमेटी की आखिरी बैठक में नेशनल बुक ट्रस्ट के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा के नाम पर सदस्यों ने चर्चा हुई थी, लेकिन सभी सदस्यों की सहमति ना बन पाने से मामला अटक गया है। कुलपति चयन के लिए गठित सर्च कमेटी ने नवंबर माह में हुई बैठक में राज्यपाल को सभी उम्मीदवारों का नाम दे दिया है। सूत्रों का कहना है कि राजभवन से प्रक्रिया होने में देर हो रही है।

5 नामों पर मंथन

केटीयू के कुलपति के नाम पर राज्यसभा टीवी के पूर्व कार्यकारी निदेशक उर्मिलेश उर्मिल, नेशनल बुक ट्रस्ट के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा, चंडीगढ़ चितकारा विश्वविद्यालय में मॉस कॉम के डीन डॉ. आशुतोष मिश्रा, दूरदर्शन के पूर्व एंकर डॉ. मुकेश कुमार और पत्रकार निशिद त्यागी का नाम सामने आया है।

कुलपति चयन के लिए गठित सर्च कमेटी ने इसके संबंध में संकेत दिए है। केटीयू को नया कुलपति जनवरी माह में मिल जाएगा। मामले में गौरतलब है कि 10 मार्च को केटीयू के कुलपति मानसिंह परमार ने इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीके के बाद रायपुर संभाग कमिश्नर जीआर चुरेंद्र को कुलपति का अतिरिक्त प्रभार दिया गया।

12 सितंबर को बनी थी कमेटी

कुलपति चयन के लिए 12 सितंबर को राज्यपाल ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया था। कमेटी की जिम्मेदारी थी कि कुलपति पद के दावेदारों के आवेदन पत्रों की जांच कर नामों का पैनल तैयार करें, लेकिन समिति तय समय पर नामों का पैनल तैयार नहीं कर सकी थी। इसे देखते हुए 23 अक्टूबर को कमेटी को 4 सप्ताह का अतिरिक्त समय दिया गया था।

सर्च कमेटी का अध्यक्ष केंद्रीय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश के कुलपति प्रो. कुलदीप चंद अग्निहोत्री को बनाया गया है। कार्यपरिषद की ओर से हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय जयपुर के कुलपति ओम थानवी को और राज्य सरकार की ओर से पूर्व प्रधान मुख्य वन संरक्षक डॉ. के सुब्रमण्यम को समिति का सदस्य बनाया गया है।

ये भी पढ़ें: राज्य के 57 फीसदी लोगों ने माना कि सरकारी काम के लिए दी है घूस

Karunakant Chaubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned