छत्तीसगढ़ को मिल सकती है लाइट मेट्रो रेल, केंद्रीय मंत्री ने मंत्री डॉ. डहरिया को दिया आश्वासन

- रायपुर में लाइट मेट्रो रेल के लिए शीघ्र होगा डीपीआर का काम
- केंद्रीय मंत्री ने मंत्री डॉ. डहरिया को दिया आश्वासन

By: Ashish Gupta

Published: 20 Feb 2021, 11:08 AM IST

रायपुर. नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया (Shiv Kumar Dahariya) ने नई दिल्ली में केंद्रीय आवासीय एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) से मुलाकात की। इस दौरान मंत्री डॉ. डहरिया ने प्रदूषण के खतरे और यातायात के दबाव को कम करने लाइट मेट्रो रेल परियोजना के संबंध में चर्चा की। केंद्रीय मंत्री पुरी ने लाइट मेट्रो रेल परियोजना में सहमति जताते हुए प्रोजेक्ट तैयार करने के लिए हरी झंडी दी है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने नवीन सिटी बसों के लिए केंद्रीय सहायता उपलब्ध कराने सहित कई मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है।

लंबे इंतजार के बाद शिक्षकों की भर्ती का रास्ता खुला: 9वीं से 12वीं कक्षा के स्कूलों में होगी नियुक्ति

मंत्री डॉ. डहरिया ने नई दिल्ली के निर्माण भवन में केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के दौरान छत्तीसगढ़ में हो रहे अभिनव प्रयासों और योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने रायपुर सहित अन्य शहरों की आवश्यकताओं को उनके समक्ष रखा। मुलाकात के दौरान केंद्रीय मंत्री ने अंबिकापुर में स्वच्छता एक्सीलेंस सेंटर खोलने की भी सहमति दी है।

साथ ही केंद्रीय बजट में घोषित एसबीएम 2.0 योजना के अंतर्गत गोबर से उपयोगी उत्पाद बनाने अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हुई। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना में छत्तीसगढ़ की परिस्थितियों के अनुसार केंद्रीय फंड के युक्तियुक्तकरण के साथ केंद्रीय सहायता उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया गया है। उन्होंने स्वच्छता सर्वेक्षण में कलेक्टरों की राष्ट्रीय रैंकिंग एवं अवॉर्ड प्रारम्भ करने की बात भी कही है। मुलाकात के दौरान सूडा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सौमिल रंजन चौबे मौजूद थे।

अच्छी खबर: रायपुर स्टेशन पर यात्रियों को मिलेगी बैगेज व्रेपिंग एवं सैनिटाइजिंग मशीन की सुविधा

दस साल पहले भी बना था डीपीआर
दस साल पहले भाजपा शासन में भी मेट्रो चलाने के लिए सर्वे कराया गया था। दिल्ली की कंपनी ने इसका सर्वे किया था। इसके बाद नगरीय प्रशासन विभाग ने डीपीआर बनाकर केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा था। इस प्रस्ताव के तहत रायपुर से राजनांदगांव तक मेट्रो रेल चलाने का प्रस्ताव था। लेकिन मेट्रो रेल के हिसाब से आबादी नहीं होने की बात कहकर मेट्रो चलाने का प्रस्ताव ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था। अब फिर से पुराने शहर और नए शहर के बीच मेट्रो चलाने के डीपीआर बनाने की कवायद की जा रही है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned