script कोताही : पिछले बजट की घोषणा ही नहीं हुई अब तक पूरी...पढ़े पूरी खबर | Negligence: Last budget has not been announced till now | Patrika News

कोताही : पिछले बजट की घोषणा ही नहीं हुई अब तक पूरी...पढ़े पूरी खबर

locationराजसमंदPublished: Dec 01, 2023 11:51:20 am

Submitted by:

himanshu dhawal

राजस्थान सरकार ने पिछले बजट में जिला मुख्यालय पर 12 करोड़ की लागत से ऑडिटोरियम निर्माण की घोषणा की थी, लेकिन अभी तक इसका काम तक शुरू नहीं हो सका है। इसके ठेकेदार को दो नोटिस दिए जा चुके हैं, अब तीसरा नोटिस दिया जाएगा। इसके बावजूद काम शुरू नहीं करने पर टेण्डर प्रक्रिया फिर से की जाएगी।

कोताही : पिछले बजट की घोषणा ही नहीं हुई अब तक पूरी...पढ़े पूरी खबर
हाईवे के निकट ऑडिटोरियम के लिए की गई समतल जमीन।
शहर के हाईवे के निकट बनने वाले ऑडिटोरियम का काम डेढ़ साल बाद भी शुरू नहीं हो सका है। इसके कारण ठेकेदार को दो नोटिस दिए जा चुके हैं। आगामी दो-चार दिनों में काम शुरू नहीं होने की स्थिति में ठेकेदार को तीसरा नोटिस दिया जाएगा। सिके पश्चात टेण्डर निरस्त करने की कार्रवाई की जाएगी। ऐसे में ऑडिटोरियम का निर्माण अब अगले साल ही शुरू होने की उम्मीद है।
राज्य सरकार ने पिछले बजट में जिला मुख्यालय पर ऑडिटोरियम निर्माण की घोषणा की थी। नगर परिषद ने हाउसिंग बोर्ड हाईवे पुलिया के पास नगर परिषद की जमीन पर ऑडिटोरियम बनाने का निर्णय लिया। इसका निर्माण रूडिफको के माध्यम से होगा। इसका डिजाइन आदि फाइनल होने के पश्चात टेण्डर आमंत्रित किए गए। इसमें शेखावटी के मीनू बिल्डर्स ने इसका ठेका लिया। ठेकेदार ने काम के लिए अस्थाई गुमटियां भी बनाई और समतलीकरण का काम शुरू करते ही पाइप लाइन के चलते काम को रोक दिया गया। बामुश्किल पाइप लाइन शिफ्टिंग का काम करीब एक माह पहले ही पूरा हुआ है। ऐसे में ठेकेदार को काम फिर से शुरू करने के निर्देश दिए, लेकिन ठेकेदार ने काम शुरू नहीं किया। इस पर रूडिफको की ओर से ठेकेदार को दो नोटिस दिए गए। दूसरे नोटिस का समय दो दिन बाद समाप्त होगा। काम शुरू नहीं होने की स्थिति में तीसरा नोटिस दिया जाएगा। काम शुरू नहीं होने की स्थिति में ठेकेदार के टेण्डर को निरस्त कर फिर से टेण्डर आमंत्रित करने की तैयारी है।
7-8 माह लग गए पाइप लाइन शिफ्टिंग में
ऑडिटोरियम के लिए चयनित जमीन के नीचे से पाइप लाइन गुजर रही थी। यह पाइप लाइन बाघेरी का नाका से आ रही है। इससे 103 गांवों में पेयजल आपूर्ति होती है। इसकी शिफ्टिंग के लिए जलदाय विभाग में 24 लाख रुपए जमा कराए गए। इसके बाद पाइप लाइन को शिफ्ट किया गया। इस प्रक्रिया में 7-8 माह लग गए। ऑडिटोरियम निर्माण के लिए 12 माह की समय सीमा तय की गई थी, लेकिन उससे अधिक समय होने के कारण ठेकेदार भी ठेकेदार काम शुरू नहीं कर रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि निर्माण की लागत बढऩे के कारण ठेकेदार इस और ध्यान नहीं दे रहा है।
फैक्ट फाइल
- 5.5 बीघा में बनेगा ऑडिटोरियम
- 12 करोड़ रुपए किए गए स्वीकृत
- 10 करोड़ का वर्क ऑर्डर किया जारी
- 800 लोग एक साथ बैठ सकेंगे इसमें
- पार्किंग, शौचालय आदि भी बनेंगे
देंगे तीसरा नोटिस, पाइप लाइन शिफ्टिंग में हुई देरी
ऑडिटोरियम निर्माण के ठेकेदार को दो नोटिस दिए जा चुके हैं। दूसरे नोटिस की मियाद दो-तीन दिन में समाप्त होगी। काम शुरू नहीं करने की स्थिति में तीसरा नोटिस दिया जाएगा। फिर भी काम नहीं करने पर टेण्डर निरस्त किया जाएगा। पाइप लाइन शिफ्ंिटग में काफी समय लग गया। एक माह पहले ही इसका काम पूरा हुआ है।
- अरविन्द माथुर, आरएम रूडिफको उदयपुर

ट्रेंडिंग वीडियो