scriptराजस्थान के इस हॉस्पिटल से बच्चा चुराने का यह था कारण…पढ़े पूरी खबर | Patrika News
राजसमंद

राजस्थान के इस हॉस्पिटल से बच्चा चुराने का यह था कारण…पढ़े पूरी खबर

कमला नेहरू चिकित्सालय से दो दिन का बच्चा हुआ था चोरी, सीसीटीवी में कैद हुई थी आरोपी
आरोपी महिला के बच्चेदानी नहीं होने के बाद भी गर्भवती होने का नाटक कर रचि साजिश

राजसमंदMay 23, 2024 / 11:02 am

himanshu dhawal

राजसमंद. पुलिस की ओर से बरामद किया गया बच्चा एवं पुलिस गिरफ्त में बच्चा चोरी की आरोपी।

राजसमंद. भीलवाड़ा रोड स्थित कमला नेहरू चिकित्सालय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से बुधवार को सुबह करीब 10 बजे चोरी हुए बच्चे को पुलिस ने सूचना के बाद मात्र पांच घंटे में ढूंढकर उसकी मां को सौंप दिया। पुलिस आरोपी महिला को गिरफ्ता कर पूछताछ शुरू कर दी है। बच्चा चोरी करने वाली महिला के बच्चेदानी नहीं होने के कारण इस साजिश को अंजाम दिया।
पुलिस के अनुसार कमला नेहरू राजकीय चिकित्सालय सामुदायिक केन्द्र में सनवाड़ निवासी ब्रदीलाल गमेती की पत्नी पारस गमेती (27) ने सोमवार को सुबह 5.30 बजे बेबी बॉय को जन्म दिया था। बुधवार को करीब 10 बजे एक महिला बच्चे की मां के पास जाकर बच्चे का वजन कराने की बात कहकर बच्चे को उठाकर ले गई। काफी समय बाद भी बच्चे का वजन कराकर महिला के वापस नहीं आने पर परिजनों को शक हुआ। उन्होंने बच्चे को ढूंढने का प्रयास किया, लेकिन बच्चे और महिला का कहीं पता नहीं चला। सूचना पर कांकरोली थाना प्रभारी हनुवंत सिंह मय जाप्ता पहुंचे। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों को खंगाले। इसमें एक संदिग्ध महिला दिखाई दी। पुलिस ने टीमों का गठन कर जांच पड़ताल शुरू की। पुलिस ने दोपहर 3 बजे बच्चे को कुंवारिया थाना क्षेत्र के वगतपुरा से बरामद कर लिया। थानाप्रभारी हनुवंत सिंह सोढ़ा ने बताया कि बच्चा चोरी की आरोपी कोमल नायक (23) पुत्री रमेश नायक को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने बच्चे को उसकी मां पारस को सौंप दिया।

रैकी कर चोरी का दिया अंजाम

आरोपी महिला पिछले दो दिनों से कमला नेहरू चिकित्सालय के चक्कर लगा रही थी। वह मंगलवार को भी सोनाग्राफी कमरे के बाहर बैठी दिखाई दी थी। आरोपी महिला ने बुधवार को चिकित्सालय में भर्ती अन्य महिलाओं से भी बच्चे का वजन कराने की जानकारी ली, लेकिन कई प्रसूताओं ने बच्चे का वजन होने की बात कही। इस पर वह पारस के पास से रहे उसके बच्चे का वजन कराने के नाम पर उठाकर ले गई।

कागज बनवाने आर.के. पहुंची महिला

कांकरोली थाना प्रभारी हनुवंत सिंह सोढ़ा के अनुसार आरोपी महिला का पीहर कुंवारिया वगतपुरा में है, जबकि ससुराल भीलवाड़ा जिले के शिवपुरा में है। आरोपी महिला की शादी को 1.5 साल से अधिक हो गया, लेकिन बच्चेदानी नहीं होने के कारण वह गर्भवती नहीं हो सकी। इसके बावजूद वह पेट पर कपड़ा बांधकर गर्भवती होने का नाटक कर गुमराह करती रही। बच्चा चोरी करने के बाद वह पुराने कागज लेकर आर.के.चिकित्सालय पहुंची। वहां पर बताया कि बच्चा घर पर हुआ है उसके कागज बना दो, लेकिन वहां तैनात कार्मिक ने मना कर दिया।

15 टीमें बनाई, नाकाबंदी में आई पकड़ में

डिप्टी विवेक सिंह ने बताया कि बच्चा चोरी की सूचना पर पूरे जिले में नाकाबंदी कराई। उन्होंने सीसीटीवी कैमरों को खंगालना शुरू किया। कुुंवारिया थानाधिकारी सोनाली ने नाकाबंदी के दौरान रूपाखेड़ा टोल एक टैम्पो में महिला दिखाई थी। पुलिस ने जब उसके पास कागजों को चैक किया तो शंका हुई, आरोपी महिला ने बताया कि बच्चा आर.के. राजकीय चिकित्सालय में हुआ है और उसे आज ही छुट्टी मिली है। पुलिस उसे वहां लेकर पहुंची तो शंका शक में बदल गई। उससे सख्ती से पूछताछ करने पर महिला ने सच कबूल कर लिया। पुलिस ने आरोपी महिला को डिटेन कर कमला नेहरू चिकित्सालय पहुंची। वहां पर बच्चे को प्रसूता को सौंप दिया।

Hindi News/ Rajsamand / राजस्थान के इस हॉस्पिटल से बच्चा चुराने का यह था कारण…पढ़े पूरी खबर

ट्रेंडिंग वीडियो