सपा को लगा बड़ा झटका, चुनाव आयोग ने आजम खान के खिलाफ फिर की बड़ी कार्रवाई, नहीं कर पाएं चुनाव प्रचार

सपा को लगा बड़ा झटका, चुनाव आयोग ने आजम खान के खिलाफ फिर की बड़ी कार्रवाई, नहीं कर पाएं चुनाव प्रचार

Iftekhar Ahmed | Publish: Apr, 30 2019 09:07:10 PM (IST) | Updated: Apr, 30 2019 09:07:11 PM (IST) Rampur, Rampur, Uttar Pradesh, India

  • चुनाव आयोग ने फिर कसा आज़म खान पर शिकंजा
  • सपा नेता के खिलाफ 48 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पर लगाया बैन
  • इससे पहले भी 72 घंटे के लिए आजम के चुनाव प्रचार पर लगा दिया था प्रतिबंध

रामपुर। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और महा गठबंधन के प्रत्याशी मोहम्मद आजम खान पर एक बार फिर चुनाव आयोग ने शिकंजा कसते हुए 48 घंटों के लिए उनकी जुबान पर ताला लगा दिया है। यानी अगले दो दिनों तक अब आजम खान न तो कहीं जाकर प्रचार कर सकते हैं और न ही अपनी जुबान से कोई सियासी बात मीडिया से कहकर इस बार के लोकसभा चुनाव में अपनी मौजूदगी दर्ज करा सकते हैं। यह बैन 1 मई 2019 की सुबह 6:00 बजे से लागू होगा और 48 घंटे तक रहेगा।

BIG NEWS: मेरठ में मस्जिद के बाहर एक के बाद एक हुए 20 धमाके, लोगों में मची अफरा-तफरी

उनके खिलाफ यह बैन 7 अप्रैल, 9 अप्रैल और 12 अप्रैल को दिए गए उनके बयानों के सिलसिले में लगाया गया है। आजम खान के विवादित बयानों के बाद केन्द्रीय चुनाव आयोग ने स्वत: संज्ञान लेकर स्थानीय प्रशासन से रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद स्थानीय प्रशासन ने आयोग को रामपुर की सभाओं में आजम खान की ओर से दिए गए बयानों की रिपोर्ट आयोग को भेजी थी। इसके आधार पर एक बार फिर से चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ 48 घंटों के लिए चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगा दिया है। गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के कद्द्वार नेता आजम खान और महा गठबंधन के प्रत्याशी की जुबान पर चुनाव आयोग ने इससे पहले भी 72 घंटे के लिए पाबंदी लगाई थी। उस वक्त आजम के खिलाफ यह कार्रवाई रामपुर से भाजपा की महिला प्रत्याशी जया प्रदा के खिलाफ विवादित बयान के बाद लगाया गया था।

प्रतिबंध के बाद अब सीएम योगी की चुनावी जनसभा हुई रद्द

प्रतिबंध का पूरी तरह पालन करते हैं आजम

जब-जब आजम खान पर चुनाव आयोग ने शिकंजा कसा, तब तब आजम खान ने चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन अच्छे से किया। इस दौरान आजम खान ने कभी भी चुनाव आयोग के आदेश की अवहेलना नहीं की, लेकिन जैसे ही उनका आदेश खत्म हुआ तत्काल फिर कुछ ना कुछ ऐसा बोला, जिसको लेकर चुनाव आयोग ने फिर से एक्शन लेने पर मजबूर हुए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned