Budh Rashi Parivartan 2021 : शुक्र परिवर्तन के ठीक एक दिन बाद बुध भी करेंगे राशि परिवर्तन, जानिये किन राशियों को होगा खास लाभ

साल 2021 के पहले हफ्ते में इस दिन होगा बुध का राशि परिवर्तन...

बुध साल के पहले हफ्ते में 5 जनवरी 2021 को राशि परिवर्तन करेंगे। मंगलवार के दिन बुध धनु राशि से निकलकर मकर राशि में जाएंगे. मकर राशि में बुध 25 तारीख तक रहेंगे। ज्योतिष के अनुसार, बुध ग्रह को बुद्धि, संचार, विज्ञान, व्यापार और अनुसंधान, आदि का कारक माना जाता है। बुध का यह राशि परिवर्तन जहां कुछ राशियों के लिए शुभ रहेगा, वहीं इस दौरान कुछ राशिवलों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ेगा।

इससे ठीक एक दिन पहले भाग्य के कारक शुक्र 04 जनवरी 2021 को सुबह 4 बजकर 51 मिनट पर कला, सौंदर्यता, भौतिक सुख-समृद्धि और कामुकता का कारक ग्रह शुक्र वृश्चिक राशि से धनु राशि में गोचर करने जा रहे हैं। शुक्र धनु राशि में 28 जनवरी 2021 तक रहेंगे। शुक्र ग्रह के इस गोचर का भी प्रभाव सभी राशियों पर शुभ-अशुभ रूप से पड़ेगा।

MUST READ : 2021 के पहले सप्ताह में ही शुक्र बदलेंगे अपनी राशि, जानें आपके लिए कैसा रहेगा ये परिवर्तन

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/venus-transit-2021-good-and-bad-effects-on-you-6603991/

बुध के परिवर्तन का असर ( Effects of Budh rashi parivartan ) ...


1. मेष
बुध आपके तीसरे और छठे भाव का स्वामी होकर, इस गोचर के दौरान आपकी राशि से दसवें भाव में गोचर करेगा। जिससे कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी, सामाजिक पद प्रतिष्ठा बढ़ेगी, जमीन जायदाद के मामलों का निपटारा होगा, मुश्किल हालात का भी अच्छे से सामाना कर पाएंगे।

उपाय: बुधवार के दिन, भगवान गणेश को दूर्वा घास अर्पित करें।

2. वृषभ
बुध आपके दूसरे और पंचम भाव के स्वामी होते हैं, और इस गोचर के दौरान वो आपकी राशि के नवम भाव में विराजमान होंगे। जो भाग्य का भाव होता है। जिससे आपको सफलता मिलेगी, भाग्य में वृद्धि होगी, शिक्षा प्रतियोगिता में कामयाबी मिलेगी, विदेशी नौकरी के लिए आवेदन करने पर सफलता मिलेगी।

उपाय: हर रोज सुबह, “विष्णु सहस्त्रनाम” का जप करें।


3. मिथुन
बुध आपकी राशि के ही स्वामी, यानी आपके लग्न और पंचम भाव के स्वामी होते हैं। अब इस गोचर के दौरान वो आपके आठवें भाव में प्रवेश करेंगे, जो परिवर्तन और बदलावों का भाव होता है। ऐसे में इस परिवर्तन से आपको मिश्रित फल मिलेंगे, जिससे मान-सम्मान बढ़ेगा, लेकिन जमीन ज्यादा से जुड़े मामलों में दिक्कतें आ सकती हैं, आर्थिक तंगी से बचें, स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें।

उपाय: किसी जानकार की सलाह पर अपने दाहिने हाथ की छोटी उंगली में सोने या चांदी की अंगूठी में, उच्च गुणवत्ता वाला पन्ना धारण करें।


4. कर्क
बुध आपकी राशि के तीसरे और द्वादश भाव के स्वामी होते हैं, और इस गोचर के दौरान वे आपकी राशि के सातवें भाव में विराजमान होंगे। इसके चलते आप ऊर्जाशक्ति का पूरा उपयोग करेंगे तो कार्य व्यापार में सफलता मिलेगी, शादी-विवाह संबंधित बातचीत सफल होगी, संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी।

उपाय: शुभ फलों की प्राप्ति के लिए अपने दफ्तर और घर पर कपूर जलाएं।

5. सिंह
बुद्ध आपकी राशि के दूसरे और ग्यारहवें भाव के स्वामी होते हैं, और इस गोचर के दौरान वो आपके छठवें भाव में विराजमान होंगे। ऐसे में सिंह राशि के जातकों के लिए, बुध का यह गोचर लाभकारी परिणाम प्रदान करने वाला रहेगा। यह समय उन व्यापारी जातकों के लिए जो, अपने व्यवसाय का विस्तार करने के लिए बैंकों या अन्य संस्थाओं से समर्थन पाना चाह रहे थे, उनके लिए समय ख़ासा अनुकूल रहने वाला है। स्वास्थ्य विशेषकर के पेट संबंधी विकार, चर्मरोग के प्रति सतर्क रहें, धन उधार के रूप में ना दें, घूमने-फिरने पर अधिक खर्च होगा।

उपाय: बुधवार के दिन मुख्य रूप से किन्नरों का आशीर्वाद लें।


6.कन्या
बुध आपके लग्न और दसवें भाव के स्वामी होते हैं। अब मकर राशि में होने वाले गोचर के फलस्वरूप बुध ग्रह, कन्या राशि से पांचवें भाव में संचरण करेंगे। जो मिश्रित फल देंगे। प्रेम विवाह के समय अनुकूल रहेगा, भाइयों से मतभेद न बढ़ाएं, शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी।

उपाय: रोज़ाना तुलसी के पौधे को जल अर्पित करते हुए, उसकी पूजा करें।

 

7. तुला
बुध आपके नवम और द्वादश भाव के स्वामी होते हैं, और इस गोचर के दौरान वो आपके चौथे भाव में प्रवेश करेंगे। सुखों में वृद्धि की संभावना के बीच मित्रों-संबंधियों से मदद की उम्मीद है। यात्रा सावधानी पूर्वक करें।

उपाय: रोज़ाना बुध की होरा में, बुध ग्रह के मंत्र “ॐ बुं बुधाय नमः” का जप करें।

 

8. वृश्चिक
बुध ग्रह आपके अष्टम और एकादश भाव के स्वामी होते हैं। परन्तु मकर राशि में होने वाला गोचर के दौरान, वो आपकी राशि से तीसरे भाव में विराजमान होंगे। जो निर्णय लेंगे उसी में सफलता मिलेगी, धर्म-कर्म के मामलों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे, दान पुण्य भी करेंगे।

उपाय: रोज़ाना सुबह, बुध यंत्र की उपासना करें।

MUST READ : 2021 का पूर्ण राशिफल- सभी 12 राशियों का

2021_astrology_for_all_zodiac_signs.jpg

9. धनु
धनु राशि के जातकों के लिए बुध, अपने इस गोचर के दौरान आपके दूसरे भाव को प्रभावित करेगा। ऐसे में आपका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा, बकाया सैलरी मिलेगी, काफी दिनों से चला रहा तनाव कम होगा, स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहना पड़ेगा।

उपाय: ज़रूरतमंदों में किताबें, और शिक्षा की सामग्री भेंट करें।

 

10. मकर
बुध आपकी ही राशि में गोचर करते हुए, आपके लग्न भाव को प्रभावित करेगा। ऐसे में नौकरी में प्रमोशन और सम्मान में वृद्धि की संभावना के साथ ही विद्यार्थियों को शिक्षा प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलेगी। सरकारी नौकरियों के आवेदन करने के लिए उपयुक्त समय रहेगा।

उपाय: रोज़ाना सुबह के समय, “ओम् नमो भगवते वासुदेवाय: मंत्र का जप करें।


11. कुंभ
आपकी राशि में बुध का बारहवें भाव में गोचर करना, कुंभ राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम देगा। इस समय अधिक भागदौड़ और खर्च होगा, आर्थिक तंगी से भी बचना पड़ेगा, कोर्ट कचहरी के मामले बाहर ही सुलझा लें तो बेहतर रहेगा।

उपाय: अपने घर और दफ्तर पर कपूर जलाएं।


12. मीन
बुध के मकर राशि में गोचर के दौरान, मीन राशि के जातकों को अपने जीवनसाथी से लाभ, प्रेम और भरपूर सहयोग की प्राप्ति होगी। क्योंकि इस समय बुध ग्रह आपकी राशि से, ग्यारहवें भाव में प्रस्थान करेंगे। इस समय कामयाबियों का सिलसिला बढ़ेगा, एक से अधिक आय के साधन बनेंगे, बड़े भाइयों से मतभेद न पैदा होने दें।

उपाय: नियमित रूप से, तुलसी के पौधे की पूजा करें।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned