चंद दिनों बाद लगने वाला है साल 2020 का आखिरी चंद्र और सूर्य ग्रहण, जानिए आप पर इसका असर

साल 2020 का अंतिम चंद्र ग्रहण lunar eclipse 30 नवंबर, सोमवार को तो 2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण solar eclipse भी 14 दिसंबर, सोमवार को लगेगा...

साल 2020 खत्म होने में अब डेढ़ माह का समय भी नहीं बचा है। ऐसे में जहां नवंबर में ही इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण lunar eclipse लगने वाला है, वहीं इसके ठीक अगले माह यानि दिसंबर 2020 में साल का आखिरी सूर्य ग्रहण solar eclipse भी लगेगा। ज्ञात हो कि इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण 30 नवंबर 2020 को लगेगा। दरअसल दिवाली के ठीक 16 दिन बाद पड़ रहे इस आखिरी चंद्रग्रहण के दौरान आपको क्या-क्या एहतियात बरतनी चाहिए है और ग्रहण का सूतक काल कब तक रहेगा? जानते हैं इसके बारे में...

30 नवंबर को लगेगा साल 2020 का अंतिम चन्द्र ग्रहण : Last lunar eclipse of 2020
साल के आखिरी ग्रहण को लेकर खगोलीय विशेषज्ञों का कहना है कि इस साल 30 नवंबर को लगने वाला चंद्र ग्रहण उपच्छाया ग्रहण होगा। वहीं जानकारों के अनुसार उपच्छाया ग्रहण लगने के चलते सूतक काल मान्य नहीं होगा। यानी 30 नवंबर को लगने वाले चंद्र ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा। ऐसे में भारत में लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा।

एशिया में कुछ जगह ही दिखेगा ग्रहण
बता दें इस साल नवंबर के आखिरी दिन में लगने वाला चंद्र ग्रहण एशिया के कुछ ही देशों में दिखाई देगा। यह खास तौर पर अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। इसके अलावा प्रशांत महासागर के क्षेत्र में भी यह चंद्रग्रहण नजर आने वाला है।

अंतिम चंद्र ग्रहण का समय...
30 नवंबर को लगने वाला यह चंद्र ग्रहण दोपहर 1:04 से शुरू होगा और 3:13 तक मध्य में आ जाएगा। वहीं शाम 5:22 पर यह पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। इस बार वृषभ राशि में लगने वाला चंद्र ग्रहण उपच्छाया है।

ये होगा अंतिम सूर्य ग्रहण : Last Solar eclipse of 2020
वहीं इस साल के आखिर में लगने वाला आखिरी सूर्य ग्रहण आगामी 14 दिसंबर को लगेगा, जो कि शाम 7:30 से शुरू होकर 15 दिसंबर को 12:00 बजे समाप्त होगा। यह सूर्य ग्रहण भी भारत में नहीं दिखेगा। सूर्य ग्रहण के समय पृथ्वी और सूर्य के बीच चंद्रमा नजर आएगा जिसकी वजह से सूर्य आधा ढक जाएगा।

ग्रहण के दौरान ये बरतनी चाहिए सावधानी (Precautions During Grahan):
ज्योतिष के जानकारों के अनुसार चन्द्र या सूर्य ग्रहण में सबसे अधिक सावधानी गर्भवती महिलाओं को बरतनी होती है। मान्यता है कि ग्रहण के दौरान जो नकारात्मक ऊर्जा निकलती है वह गर्भस्थ शिशु के लिए नुकसानदेह होती है। इसलिए सूर्य या चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को खास सावधानी बरतने के लिए कहा जाता है। ग्रहण को लेकर गर्भवती महिलाओं के बीच मान्यता यह भी है कि ग्रहण की अवधि में चाकू, कैंची और सुई आदि धारदार वस्तुओं का उपयोग नहीं करना चाहिए।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned