इस दिन रात में की गई लक्ष्मी पूजा सभी कर्जों से दिलाती हैं मुक्ति

इस दिन रात में की गई लक्ष्मी पूजा सभी कर्जों से दिलाती हैं मुक्ति
,,

Tanvi Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 02:36:54 PM (IST) धर्म

कर्जों से मुक्ति दिलाती हैं लक्ष्मी पूजा, रखें ये सावधानियां

अश्विन मास की पूर्णिमा तिथि का शास्त्रों व पुराणों में बहुत अधिक महत्व माना गया है। इस दिन मां लक्ष्मी अवतरित हुई थी, इसलिये शरद पूर्णिमा का दिन हिंदू धर्म के लिये बहुत अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन चंद्रमा की पूजा करने के साथ-साथ मां लक्ष्मी की पूजा का भी महत्व है। मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी रात के समय पृथ्वी लोक का भ्रमण करती हैं। इसके अलावा भी इस दिन को लेकर कई मान्यताएं हैं आइए जानते हैं..

 

पढ़ें ये खबर- शरद पूर्णिमा: मां लक्ष्मी को अर्पित करें ये विशेष भोग, खूब मिलेगा पैसा

कर्जों से मुक्ति दिलाती हैं लक्ष्मी पूजा, रखें ये सावधानियां

इस रात चंद्रमा से बरसता है अमृत

मान्यता है कि शरद पूर्णिमा की मध्यरात्रि में चंद्रमा सोलह कलाओं से अमृत वर्षा होने पर ओस के कण के रूप में अमृत की बूंदें गिरती हैं। इसलिए शरद पू्र्णिमा की रात को खुले आसमान के नीचे खीर का प्रसाद बनाकर रखा जाता है। इसके पीछे एके बहुत ही सटिक कारण है, जिसके अनुसार दुध में लैक्टिक अम्ल और अमृत तत्व होता है। यह तत्व किरणों से अधिक मात्रा में शक्ति का शोषण करता है। चावल में स्टार्च होने के कारण यह प्रक्रिया और आसान हो जाती है। इसी कारण ऋषि-मुनियों ने शरद पूर्णिमा की रात्रि में खीर खुले आसमान में रखने का विधान किया है। वहीं खीर को चांदी के पात्र में बनाना चाहिए। क्योंकि चांदी में प्रतिरोधकता अधिक होती है और विषाणु दूर होते हैं।

 

पढ़ें ये खबर- 13 अक्टूबर को कर लिया ये एक उपाय तो बदल जाएगी आपकी जिंदगी, जरुर आजमाएं

कर्जों से मुक्ति दिलाती हैं लक्ष्मी पूजा, रखें ये सावधानियां

कर्जों से मुक्ति दिलाती हैं लक्ष्मी पूजा

शरद पूर्णिमा को कोजागर व्रत भी कहा जाता है। क्योंकि इस रात को मां लक्ष्मी सभी के घर आती हैं और जो कोई इस दिन सो रहा होता है उसके दरवाजे से वापस लौट जाती हैं। कहा जाता है कि इस दिन लक्ष्मी पूजा सभी कर्जों से मुक्ति दिलाती है। वहीं शास्त्रों में इस पूर्णिमा को कर्जमुक्ति पूर्णिमा भी कहा जाता है। इसके अलावा इस दिन भगवान कृष्ण ने अपनी नौ लाख गोपिकाओं के साथ स्वयं के ही नौ लाख अलग-अलग गोपों के रुप में रास रचाया था।

शरद पूर्णिमा के दिन रखें ये सावधानियां

1. इस दिन पूर्ण रूप से जल और फल ग्रहण करके उपवास रखने का प्रयास करें।

2. यदि आप इस दिन उपवास नहीं रख रहे हैं तो सात्विक भोजन ग्रहण करें।

3. इस दिन आप शरिर को जितना शुद्ध और खाली रखेंगे आपके लिए बेहतर होगा, इससे आप अमृत को बेहतर तरीके से प्राप्त कर पाएंगे।

4. इस दिन सफेद रंग के कपड़े या चमकदार वस्त्र पहनें बहुत ही फायदेमंद रहेगा, इससे आपको पॉजिटिव उर्जा मिलेगी।

5. इस दिन आप चांद की रोशनी में सुई में धागा अवश्य पिरोएं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned