scriptजर्जर सड़कें, कभी भी गुल होती बिजली और 4 से 5 दिन में खुलते नल बने लोगों के लिए सिरदर्द | Patrika News
सागर

जर्जर सड़कें, कभी भी गुल होती बिजली और 4 से 5 दिन में खुलते नल बने लोगों के लिए सिरदर्द

सागर. शहर के पुरानी बसाहट वाले क्षेत्र में लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए हर रोज तरस रहे हैं। यहां पर सीवर व वाटर प्रोजेक्ट के नाम पर सड़कें कई महीनों से खुदी पड़ी हैं। गर्मी, बारिश व ठंड के सीजन में बिजली कभी भी दो से तीन घंटे के लिए गुल होना यहां पर आम […]

सागरJun 09, 2024 / 11:51 am

अभिलाष तिवारी

  • पुरानी बसाहट वाले शहर में लगभग एक लाख है आबादी
  • यातायात जाम के कारण कई परिवार सक्षम होने के बाद भी नहीं खरीद पा रहे चार पहिया वाहन
सागर. शहर के पुरानी बसाहट वाले क्षेत्र में लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए हर रोज तरस रहे हैं। यहां पर सीवर व वाटर प्रोजेक्ट के नाम पर सड़कें कई महीनों से खुदी पड़ी हैं। गर्मी, बारिश व ठंड के सीजन में बिजली कभी भी दो से तीन घंटे के लिए गुल होना यहां पर आम बात हो गई है। सड़क और बिजली ही नहीं, बल्कि पानी को लेकर भी यहां पर दयनीय स्थिति है। राजघाट बांध से होने वाली जलापूर्ति के नल भी गर्मी के मौसम में 4 से 5 दिन में खुल रहे हैं।

तंग गलियां बनी परेशानी

पुरानी बसाहट वाले क्षेत्रों में सबसे बड़ी समस्या तंग गलियों की है। इसी तर्क का हवाला देकर एजेंसियों अपनी जिम्मेदारी से भाग लेती हैं, जिसके कारण यहां रहने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहां पर प्रोजेक्ट के नाम पर छुटपुट कार्य ही किए जाते हैं और वह ही अधूरे छोड़ दिए जा रहे हैं। उन्हीं में से एक मामला रोड रेस्टोरेशन का है।

इन क्षेत्रों में है परेशानी

परकोटा, बड़ा बाजार, चकराघाट, बरियाघाट, विवेकानंद वार्ड, पुरव्याऊ टोरी, नरयावली नाका वार्ड, रामपुरा, केशवगंज, इतवारी, शनिचरी, दयानंद वार्ड, कटरा, मोतीनगर वार्ड समेत अन्य वार्डों में ये समस्या है। उक्त क्षेत्रों में करीब एक लाख आबादी रहती है।

स्थानीय लोग बोले

  • इस गर्मी में बिजली व्यवस्था पूरी तरह से चौपट रही है। शाम होते ही पंखे चलने के नाम पर सिर्फ घूमते ही हैं। तेज गर्मी के बाद अब उमस से लोग परेशान हैं। बिजली व्यवस्था दुरुस्त की जानी चाहिए। – सीताराम पचकोड़ी, पूर्व पार्षद, पुरव्याऊ टोरी-
  • बड़ा बाजार क्षेत्र में यातायात जाम सबसे बड़ी समस्या है। कई लोग ऐसे हैं, जो सक्षम होकर भी चार पहिया वाहन नहीं खरीद पा रहे हैं। सीवर और वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट के लिए खोदी गई सड़कों का ठीक तरीके से रेस्टोरेशन नहीं किया गया है। – टोनू निर्मल, बड़ा बाजार
  • पानी के लिए लोग हर दिन परेशान हो रहे हैं। राजघाट बांध से चार से पांच दिन में सप्लाई की जा रही है। सप्लाई के समय में भी कटौती भी कर दी गई है। नल भी प्रेशर से नहीं खुल रहे हैं जिसके कारण पर्याप्त मात्रा में लोगों तक पानी नहीं पहुंचता है। – राकेश विश्वकर्मा, बड़ा बाजार
  • भीषण गर्मी के बीच लोग पानी और बिजली दोनों के लिए परेशान हैं। प्रशासन को चाहिए कि वह दोनों मामलों को गंभीरता से ले। स्कूल की छुट्टियों को दौर चल रहा है और बच्चे इससे सबसे ज्यादा परेशान हो रहे हैं। – सुनीता जैन, वल्लभनगर वार्ड

Hindi News/ Sagar / जर्जर सड़कें, कभी भी गुल होती बिजली और 4 से 5 दिन में खुलते नल बने लोगों के लिए सिरदर्द

ट्रेंडिंग वीडियो