नव विवाहित जोड़ों ने एक दूजे से ऐसे किया प्यार का इजहार, जिसे सुनकर हंस-हंसकर आप हो जाएंगे लोट-पोट

सामूहिक विवाह-निकाह समारोह में 99 जोड़े बंधे बन्धन में

By: Iftekhar

Published: 08 Feb 2018, 07:33 PM IST

सहारनपुर. शहर में गुरुवार को चारों ओर खुशियों का माहौल था। एक ओर सामूहिक विवाह का मंडप और दूसरी ओर सामूहिक निकाह का पंडाल सजा था। यहां लज्जा के साथ लाल जोड़े में सेहरे को निहारती आंखे और आशीर्वाद के लिए जनप्रतिनिधियों से लेकर अफसर तक मौजूद थे। सहारनपुर के दिल्ली रोड स्थित एक बैंकट हॉल में गुरुवार को कुछ ऐसा ही माहौल था। जरा सोचिए अगर ऐसे माहौल में फेरों से पहले दूल्हा-दुल्हन से कह दे कि हमें तुमसे बहुत प्यार है तो क्या होगा ? जाहिर सी बात है आप कहेंगे दुल्हन शरमा जाएंगी। ऐसा ही हुआ जब पत्रिका रिपोर्टर ने इस सामूहिक विवाह के दौरान शादी के पवित्र बंधन में बंधने जा रहे एक जोड़े के पास जाकर दूल्हे से पूछा कि वह इस मौके पर अपनी दुल्हन के लिए क्या कहना चाहते हैं तो दूल्हे ने कहा कि मैं अपनी होने वाली पत्नी से बहुत प्यार करता हूं। इतना सुनते ही दुल्हन शरमा गई और जब दुल्हन से पूछा कि वह क्या कहना चाहती हैं तो दुल्हन लज्जा के कारण पहले तो कुछ नहीं बोल पाई, लेकिन बाद में दुल्हन ने भी कह दिया कि वह भी बहुत प्यार करती हैं। एक अन्य जोड़े से बात की तो दूल्हे ने कहा कि वह अपनी पत्नी के लिए यही कहना चाहते हैं कि जैसा उन्होंने सोचा था, उनकी पत्नी बिल्कुल ही वैसी है।

एसएसपी ने दिए मोबाइल फ़ोन
सामूहिक निकाह विवाह समारोह के दौरान सभी दुल्हनों को कन्यादान भी किया गया। इस दौरान सहारनपुर एसएससी बबलू कुमार की ओर से सभी जोड़ों को एक-एक स्मार्टफोन भी दिया गया। समारोह में मुख्य रूप से मौजूद रहे मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल समेत जनप्रतिनिधियों ने भी शादी और निकाह के बंधन में बंधे इन जोड़ों को आशीर्वाद दिया और कन्यादान किया।

यह भी पढ़ेंः अजब गजब: 8वीं तक के इस स्कूल में पढ़ रहे 10वीं क्लास के बच्चे

ये था प्रोग्राम
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजना के तहत समाज कल्याण विभाग की ओर से गुरुवार को सहारनपुर के दिल्ली रोड स्थित एक बैंक्वेट हॉल में सामूहिक निकाह एवं विवाह समारोह का आयोजन हुआ। इस समारोह में 33 मुस्लिम निर्धन कन्याओं और 66 हिंदू निर्धन कन्याओं का निकाह और विवाह कराया गया। यह कन्याएं भले ही निर्धनों की थी, लेकिन यह समारोह बेहद अलौकिक था। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल समेत लखनऊ से पहुंचे समाज कल्याण विभाग के निदेशक जगदीश प्रशाद, अपर निदेशक पीसी उपाध्याय, एसएसपी बबलू कुमार और मुख्य विकास अधिकारी संजीव रंजन इस प्रोग्राम के मुखिया के रूप में दिखाई दिए।

यह भी पढ़ेंः जंगल से आए तेंदुए ने ग्रामीणों पर किया हमला, लोगों में दहशत का माहौल

दुल्हन को 20-20 हजार नकद
निकाह-विवाह समारोह उपरांत सभी दुल्हन को एक एक स्मार्टफोन , 35 स्टील के बर्तन, 60 ग्राम चांदी की पायजेब व बिछुए समेत प्रत्येक वस्तु को वस्त्र भेंट किए गए। मुस्लिम जोड़ों का शहर काजी नदीम अख्तर ने निकाह कराया। वहीं, 16 ब्रहामणों ने हिन्दू जोड़ों का हिन्दू रीति रिवाज से विवाह संपन्न करवाया।

यह भी पढ़ेंः छात्र ने रोते हुए कहा डीएम साहब मेरे दो साल खराब हो गए और डीएम साहब ने खिला दी मिठाई

ये रहे शामिल
कार्यक्रम में मुख्य रूप से मेयर संजीव वालिया, भाजापा जिलाध्यक्ष विजेंद्र कश्यप, भाजापा प्रदेश उपाध्यक्ष जसवंत सैनी, पूर्व विधायक राजीव गुम्बर , पूर्व विधायक महावीर सिंह राणा, ब्लॉक प्रमुख हंस राज गौतम, सदस्य जिला पंचायत मुल्की राज सैनी समेत बड़ी संख्या में शहर के लोग और 110 जोड़ो के रिश्तेदार मौजूद रहे।

Video देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

 

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned