scriptसत्याग्रह से प्रशासन में मचा हडक़म्प, पांच दिन में बनेगी सडक़ | Patrika News
सिवनी

सत्याग्रह से प्रशासन में मचा हडक़म्प, पांच दिन में बनेगी सडक़

– सत्याग्रह की खबर पाकर नेता प्रतिपक्ष ने कलेक्टर से की चर्चा
– प्रशासन के लिखित आश्वासन पर समाप्त किया सत्याग्रह

सिवनीJul 07, 2024 / 06:18 pm

sunil vanderwar

इस सडक़ के लिए हुआ सत्याग्रह आंदोलन।

इस सडक़ के लिए हुआ सत्याग्रह आंदोलन।

सिवनी. जिला मुख्यालय से आठ किमी दूर एनएच 44 से सटे ग्राम बिहिरिया-जमुनिया एवं महुआ टोला के जर्जर हो चुके मार्ग को बनवाने की मांग करते युवा कांग्रेस कार्यकर्ता एवं ग्रामीणों ने शनिवार को सुबह 11 बजे से 24 घंटे का सत्याग्रह आरम्भ किया था। लेकिन कुछ ही देर बाद जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और पांच दिन में सडक़ निर्माण करने का आश्वासन देकर सत्याग्रह आंदोलन समाप्त करा दिया है। युवा कांग्रेस नेता ओम उपाध्याय ने बताया कि सत्याग्रह को लेकर विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने इस मामले में जब सिवनी कलेक्टर से मोबाइल पर चर्चा किया, तो अधिकारियों ने आनन-फानन में सडक़ बनाने की सहमति दी है।
प्रशासनिक अधिकारियों ने दिया लिखित आश्वासन।
प्रशासनिक अधिकारियों ने दिया लिखित आश्वासन।

सडक़ निर्माण की मांग कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ता व ग्रामीणों का सत्याग्रह आरंभ होने पर युवा कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने 24 घंटे उपवास की घोषणा कर दी। बताया कि एक दिवस पूर्व से ही प्रशासन का यह प्रयास था कि आंदोलन ना हो, लेकिन उसके बाद भी युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता नहीं माने, वह अपनी मांग के लिए अड़े रहे और सत्याग्रह में बैठ गए।

आंदोलन में शामिल राजा बघेल ने बताया कि आंदोलन शुरु होने पर बंडोल थाने के प्रभारी सिपाहियों को लेकर सत्याग्रह स्थल पर पहुंचे और आंदोलन बंद करने का दवाब बनाने लगे। तब कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की बहस थानेदार से हुई लेकिन आंदोलनकारियों को नहीं उठा पाए। इस मामले को लेकर राजा बघेल ने तुरंत नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार एवं उप नेता प्रतिपक्ष हेमंत कटारे को फोन लगाकर मामले की जानकारी दी। तब दोनों नेताओं ने तुरंत ही कलेक्टर संस्कृति जैन से दूरभाष से संपर्क कर सडक़ निर्माण की प्रक्रिया तुरंत कराने को कहा।

नेता प्रतिपक्ष से बात होने पर पूरा प्रशासन दल-बल के साथ आंदोलन स्थल पर पहुंचा। डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, थाना प्रभारी ने पुन: बातचीत के माध्यम से आंदोलन बंद करने को कहा, लेकिन आंदोलनकारी लिखित आश्वासन के लिए अड़े रहे। तब डिप्टी कलेक्टर एवं तहसीलदार, नायब तहसीलदार ने लिखित आश्वासन दिया की पांच दिन के अंदर इस सडक़ का निर्माण कार्य कराया जाएगा। जिसके बाद सत्याग्रह आंदोलन को समाप्त किया गया। आंदोलन में लूघरवाडा सोसायटी अध्यक्ष शिव सनोडिया, युवा कांग्रेस कार्यकारी जिलाध्यक्ष आदित्य भूरा, युवा कांग्रेस सचिव राकेश बघेल, जिला पंचायत सदस्य नितिन डेहरिया, जिला पंचायत सदस्य रीना टेकराम बरकड़े, जनपद सदस्य रतन बरकड़े, सुनील बघेल, जयनाथ बघेल, कोमल सिंह बघेल, अशोक बघेल, उपसरपंच जगदीश नांदेकर एवं अन्य युवा कांग्रेस कार्यकर्ता एवं ग्रामीण उपस्थित रहे।06:03 PM

Hindi News/ Seoni / सत्याग्रह से प्रशासन में मचा हडक़म्प, पांच दिन में बनेगी सडक़

ट्रेंडिंग वीडियो