भूखे पेट ट्रेनों में सफर करने को विवश हैं मजदूर

लंबे सफर में शहडोल के अलावा कहीं पर भी नहीं होती भोजन की व्यवस्था, आइआरसीटीसी बरत रहा है लापरवाही
शहडोल में ठहरी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में सवार श्रमिकों ने बताई व्यथा, सामाजिक सेवादारों ने श्रमिकों को दिया फल, भोजन और पानी

By: brijesh sirmour

Published: 22 May 2020, 08:52 PM IST

शहडोल. संभागीय मुख्यालय से गुजरने वाली श्रमिक स्पेशल टे्रनों में सवार श्रमिकों को भूखे पेट सफर करने को विवश होना पड़ रहा है। टे्रनों मेें सवार अधिकांश श्रमिकों का यही कहना था कि उन्हे रास्ते में कहीं भी भोजन दिया जाता और भीषण गरमी में वह पानी के लिए भी तरस जाते हैं। ऐसी दशा में उन्हे शहडोल के संभागीय मुख्यालय में ही कुछ हद तक भूख शांत करने के लिए कुछ खाने को मिल जाता है। गौरतलब है कि श्रमिक ट्रेनों में सवार श्रमिकों को भोजन कराने के लिए आईआरसीटीसी को जिम्मेदारी सौंपी गई है, लेकिन उसके द्वारा श्रमिकों को भरपेट भोजन देने में लापरवाही बरती जा रही है। जिससे सेवादारों को सक्रिय होना पड़ रहा है। इसी कड़ी में शुक्रवार को पांच कोविड-19 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का ठहराव दिया गया। जिसमें नगर के कई सेवादारों ने ट्रेन में सवार मजदूरों के लिए भोजन, नाश्ता व पानी की व्यवस्था की। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया। सबसे पहले सुबह करीब साढ़े दस बजे मथुरा से हावड़ा जाने वाली श्रमिक स्पेशल टे्रन आई। जिसमें 1580 श्रमिक सवार थे। यह ट्रेन एक दिन पहले मथुरा से रवाना हुई थी और मजदूरों को रास्ते में कहीं भी भोजन की व्यवस्था नहीं हुई। शहडोल पहुंचने पर रोटरी क्लब के सेवादारोंं ने उनके फल, भोजन व पानी की व्यवस्था की। इसके अलावा भीरमगांव से से रांची जाने वाली टे्रन दोपहर एक बजे आई। जिसमें 1296 मजदूर सवार थे। इस ट्रेन को कटनी सिंगरौली होकर रांची जाना था, मगर अचानक इसका मार्ग बदल कर शहडोल बिलासपुर होते रांची रवाना किया गया। दोपहर में सवा दो बजे अहमदाबाद से चांपा जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन आई। इन ट्रेनों में भी मजदूरों के लिए भोजन, नाश्ता व पानी की व्यवस्था कराई गई। इसके बाद शाम को अहमदाबाद से बिलासपुर और भीरमगांव से चांपा जाने वाली भी श्रमिक स्पेशल ट्रेन का ठहराव शहडोल में दिया गया। इस कार्य में रोटरी क्लब, सांझी रसोई मनोज टीव्हीएस और श्रीबाला जी ज्वैलर्स की टीम ने अपनी सक्रिय भूमिका निभाई। इस कार्य में सामग्रियों को वितरित कराने में मुख्य स्टेशन प्रबंधक केपी गुप्ता और मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक केडी मिश्रा के निर्देशन पर हाउसकीपिंग के स्टाफ के अलावा रोटरी क्लब के अध्यक्ष अजय बिजरा, मनीष केजरीवाल, विनय तिवारी, विजय दुबे, नरेश सिंघल, सत्येन्द्र सोनी, प्रकाश गुप्ता, फक्करुद्दीन बोहरा, गुप्ता ऑटोमोबाइल के राजेश गुप्ता, समीर यादव, संजय कटारे, संजीव बांबा, संजय ओसवाल, राजेश श्रीवास्तव, मुकेश जेठानी, राहुल सिंह व उनके सहयोगी भी काफी सक्रिय रहे।

brijesh sirmour
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned