scriptपाई समर कैंप के ग्रैंड फिनाले में दिखा जोश, जुनून और उत्साह | Patrika News
खास खबर

पाई समर कैंप के ग्रैंड फिनाले में दिखा जोश, जुनून और उत्साह

जयपुर. राजस्थान पत्रिका के शैक्षिक प्रकोष्ठ पत्रिका इन एजुकेशन (पाई) की ओर से जगतपुरा स्थित द कुलिश स्कूल में रविवार को ‘पाई समर कैंप’ के ग्रैंड फिनाले का आयोजन हुआ। इसमें पाई समर कैंप में एक्टीविटीज सीखने वाले प्रतिभागियों ने अपने हुनर को परिजनों के सामने प्रस्तुत किया। शुरुआत ‘तेरा नी मैं लवर…’ लवर सॉन्ग […]

जयपुरJun 17, 2024 / 01:02 pm

Girraj Sharma

जयपुर. राजस्थान पत्रिका के शैक्षिक प्रकोष्ठ पत्रिका इन एजुकेशन (पाई) की ओर से जगतपुरा स्थित द कुलिश स्कूल में रविवार को ‘पाई समर कैंप’ के ग्रैंड फिनाले का आयोजन हुआ। इसमें पाई समर कैंप में एक्टीविटीज सीखने वाले प्रतिभागियों ने अपने हुनर को परिजनों के सामने प्रस्तुत किया।
शुरुआत ‘तेरा नी मैं लवर…’ लवर सॉन्ग पर पार्टिसिपेंट्स की परफॉर्मेंस के साथ हुई। इसके बाद ‘देखो देखो कौनसा पेड़ है चादर ओढ़े…, गलती से मिस्टेक…, कोका कोला तो… जैसे मिक्स सॉन्ग पर नन्हे—मुन्हे बच्चों ने प्रस्तुति दी। इसके बाद कैंप में सीखे सेल्फ डिफेंस और जुम्बा का प्रदर्शन किया। इसके बाद ‘मैं तो चलिया तेरी ओर…, प्यार ही किया तो एक बार किया… पर प्रतिभिगियों ने नृत्य की प्रस्तुति दी। समर कैंप में सीखे राजस्थानी लोकनृत्य की भी कार्यक्रम में ‘बन्नी थारा चांद सा मुखड़ा…, घूमर—घूमर… पर प्रस्तुति दी।
फर्जी क्लीनिक ड्रामा ने बटोरी तालियां
समर कैंप में सीखे में बच्चों ने थिएटर भी सीखा, जिसको ग्रैंड फिनाले में पेश कर बच्चों तालियां बटोरी। इस ड्रामा में झोलाछाप डॉक्टर की सच्चाई को उजागर किया गया। ड्रामा की शुरुआत क्लीनिक में एक पेसेंट दांत का दर्द को लेकर दिखाने आता है, डॉक्टर एक दांत के बदले उसके तीन दांत निकाल देता है, कारण पूछने पर डॉक्टर कता है कि अभी एक दांत खराब हुआ है, इसके बाद दूसरा और फिर तीसरा दांत खराब होता, इसलिए तीनों दांत ही निकाल दिए। इसके बाद सिर दर्द को लेकर दूसरा पेसेंट आता है, जबकि डॉक्टर उसके घुटने का आॅपरेशन कर देता है। अंत में एक पुलिस इंस्पेक्टर मरीज बनकर आता है और गलत उपचार करने पर उसे गिरफ्तार कर लेता है।
बेस्ट प्रतिभागी को किया सम्मानित
‘पाई समर कैंप’ के ग्रैंड फिनाले में प्रत्येक कोर्स के बेस्ट पार्टिसिपेंट्स को सर्टिफिकेट प्रदान कर सम्मानित किया गया। द कुलिश स्कूल के प्रिंसिपल देवाशीष चक्रवर्ती व सिनियर कॉर्डिनेशन अंतरा नायक व आभा शर्मा ने बेस्ट पार्टिसिपेंट्स को सर्टिफिकेट प्रदान किए। इस दौरान प्रिंसिपल देवाशीष ने कहा कि समर कैंप बच्चों के टैलेंट को निखारने का मौका देता है। पेरेंट्स बच्चों के पीछे हिमालय की तरह खड़े रहे और बच्चों के साथ जुड़ाव रखे, इससे बच्चा हर चुनौतियों को स्वीकार कर सकेगा।
कई एक्टीविटीज की बारीकियां सीखी
कैंप में शहर के जाने-माने एक्सपट्र्स ने प्रतिभागियों को एक्टिंग, राजस्थानी फॉक डांस, सेल्फ डिफेंस, स्केटिंग, कैलिग्राफी, कुकिंग, जुंबा, बास्केटबॉल, हिप हॉप डांस, चेस, पेंटिंग समेत 40 कोर्सेज के गुर सीखे। इसमें सभी आयु वर्ग के लोगों का उत्साह नजर आया। बच्चों के लिए आयोजित जूनियर कैंप फ्यूचरस्टिक और आर्टिस्टिक में उन्होंने कई चीजें सीखी और कैंप का आनंद लिया। फिर मिलने के वादे के साथ पाई समर कैंप का समापन हुआ।

Hindi News/ Special / पाई समर कैंप के ग्रैंड फिनाले में दिखा जोश, जुनून और उत्साह

ट्रेंडिंग वीडियो