Video : विश्वास उठने लगा तो पुलिस की टूटी चुप्पी, आठ वारदातों में संलिप्त गैंग के पांच आरोपित गिरफ्तार

चोरी की बढ़ती वारदातों के खिलाफ जब बाजार बंद किया तो पुलिस प्रशासन ने आखिरकार आठ वारदातों में संलिप्त गैंग के पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

By: vikas meel

Published: 02 Nov 2017, 08:55 PM IST

श्रीगंगानगर।

इलाके में चोरी की बढ़ती वारदातों के खिलाफ जब व्यापारियों ने बाजार बंद किया तो बैकफुट पर आए पुलिस प्रशासन ने आखिरकार आठ वारदातों में संलिप्त गैंग के पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें दो महीने पहले गैंस एजेंसी के मुनीम से पौने तीन लाख रुपए की लूट की वारदात का खुलासा भी हो गया है। इन आरेापितों को सदर पुलिस ने गिरफ्तार कर लंबे समय से चोरी, लूटपाट और छीनाझपटी की वारदातों की परतें खोल दी है। एडिशनल एसपी सुरेन्द्र सिंह, सीओ सिटी तुलसीदास पुरोहित और सदर थाना प्रभारी कुलदीप वालिया ने प्रेस वार्ता कर पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इलाके में इस गिरोह ने वारदात पर वारदात कर पुलिस को चुनौती दी थी, इसे स्वीकार कर गहनता से जांच की। जांच में पाया गया कि रामदेव कॉलोनी निवासी 21 वर्षीय राजेन्द्र सिंह उर्फ सोनू पुत्र प्रीतम सिंह रायसिख और बिहार के मधुवनी जिले के रघौली के मूल निवासी और वर्तमान में पूजा कॉलोनी में किराये पर रहने वाले 18 वर्षीय शिवा पुत्र रामूलाल यादव को गिरफ्तार किया गया जबकि तीन किशोर भी पकड़ में आए है। इन पांचों ने गैंग ने इलाके में पिछले छह महीने में अब तक आठ वारदातों को अंजाम दिया है। सीआई वालिया ने बताया कि पूछताछ के बाद और भी चोरियों और लूट की घटनाअेां का खुलासा होने की संभावना है।

 

सडक़ पर उतरा विरोध तो बनाई स्पेशल टीम

हनुमानगढ़ रोड, सूरतगढ़ रोड और जवाहरनगर सहित कई इलाके में राहगीरों से मोबाइल छीनना और पर्स लूटने के अलावा रात के समय दुकानों में सेंध लगाकर चोरी की वारदातें हुई तो तंग आकर संयुक्त व्यापार मंडल के आह्वान पर बुधवार को बाजार बंद कर एसपी दफ्तर पर रोष प्रदर्शन किया था। सडक़ों पर व्यापारियों और दुकानदारों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की थी। इस पर एडिशनल एसपी ने बुधवार रात ही शहर के पुलिस अधिकारियों की बैठक लेकर गिरोह को काबू करने के आदेश दिए। इस विरोध और सख्ती का असर यह था कि चौबीस घंटे में ही स्पेशल टीम ने गिरोह के पांच सदस्यों को काबू कर लिया।

 

पलक झपकते ही करते वारदात

बाइक पर सवार होकर यह गिरोह वारदात करने में इतना एक्सपर्ट हो गई कि जब तक राहगीर संभलता उससे पहले ओझल हो जाती थी। इस गिरोह ने हनुमानगढ़ रोड पर अनिल टाइल्स की दुकान के ताले तोडकऱ नकबजनी की वारदात को अंजाम दिया। इसमें एक डीवीआर, कम्प्यूटर सेट, 2800 रुपए की नकदी चुराए। इसी प्रकार सूरतगढ़ रोड पर स्थित मोटर मार्केट में दुकानों से बारह हजार रुपए की नकदी, तीन मोबाइल व 12 रेडियेटर व तीन बैटरी आदि की चोरी की। इसके अलावा दो महीने पहले रिद्धि सिद्धि कॉलोनी के सामने हनुमानगढ़ रोड पर दो महीने पहले एक महिला से पर्स छीना था, इसमें एक मोबाइल और नकदी भी शामिल थी। वहीं करीब डेढ़ महीने पहले हनुमानगढ़ रोड पर 3 एमएल की ओर एक युवती अपने घर लौट रही थी कि इस गिरोह ने उसका भी पर्स छीन लिया, पर्स में मोबाइल व नकदी थी। रीको में पांच जगहों पर अलग अलग तिथियों में तीन राहगीरों से महंगे मोबाइल छीन लिए थे। इसके अलावा जवाहरनगर सैक्टर सात में वाटर वक्र्स टंकी के पास एक महिला का पर्स छीना, इस पर्स में एक मोबाइल व दस हजार रुपए थे। विनोबा बस्ती में भी एक महिला का पर्स छीना, इसमें भी मोबाइल व नकदी थी।

Show More
vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned