भारत के साथ व्यापार व कृषि क्षेत्र में कार्य करेंगे

pawan uppal

Publish: Feb, 15 2018 08:02:29 AM (IST)

Sri Ganganagar, Rajasthan, India
भारत के साथ व्यापार व कृषि क्षेत्र में कार्य करेंगे

अनुसंधान एवं बीज उत्पादन पर दिया जोर

सूरतगढ़.

भारत व रूस के बीच घनिष्ठ संबंध है। व्यापार बढ़ाने के लिए पांच साल की कार्ययोजना तैयार की जा रही है। इसके तहत कृषि अनुसंधान, बीज उत्पादन पर जोर दिया जाएगा। यह बात रूस के कृषि उप मंत्री सर्गेई बेलेटस्की ने बुधवार को राष्ट्रीय बीज निगम लिमिटेड की ओर से केन्द्रीय राज्य फार्म के वर्कशॉप में भारत व रूस की मैत्री का प्रतीक रूसी मशीनरी संग्रहालय के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही।

 

अल्ट्रासाउण्ड केन्द्र के संचालक डॉक्टर सहित तीन पकड़े


उन्होंने कहा कि पांच साल की कार्ययोजना में सूरतगढ़ का केन्द्रीय राज्य फार्म भी भूमिका निभा सकता है। यह संग्रहालय अनूठा है। केन्द्रीय राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि केन्द्र सरकार की 2020 तक किसानों की आमदनी को दुगना करने का लक्ष्य है। अब तक ४८५ मण्डियों को ऑनलाइन किया जा चुका है।


सूरतगढ़ केन्द्रीय राज्य फार्म के वर्कशॉप में क्षेत्र के युवाओं को कृषि संयंत्र प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए सांसद निहालचंद को मंत्रालय के नाम पत्र भेजने को कहा गया है। इस मौके पर केन्द्रीय कृषि एवं विकास कल्याण मंत्रालय के संयुक्त सचिव (बीज) अश्वनी कुमार, राष्ट्रीय बीज निगम लिमिटेड के अध्यक्ष, सह प्रबंध निदेशक विनोद गौड़ आदि ने भी विचार रखे।

 

मूंग पैटर्न बिगाड़ेगा 'मूड' किसान होंगे परेशान

 

कार्यक्रम में रूसी दूतावास के वरिष्ठ काउंसलर सेर्गेई कमलिटो, प्रमुख व्यापार प्रतिनिधि यारोसलाव तारास्युक, रूसी दूतावास की प्रथम सचिव एक्तेरिना सेमिनोवा, रूस के कृषि मंत्रालय के प्रमुख पीपी विभाग दमित्री सेलिवनोव, स्नेजहाना उसाचेवा, रूसी दूतावास के काउंसलर कोस्तंटिन मालाशेनकोव, आंदे्र एलीजरिएव, इवजेनाई ओस्तापकेविच, इवजेनाई फाकोमोव, सांसद निहालचंद मेघवाल, विधायक राजेन्द्र भादू, राष्ट्रीय बीज निगम लिमिटेड उप महाप्रबंधक नीरज वर्मा, वरिष्ठ महाप्रबंधक कुलदीप सिंह, राष्ट्रीय बीज निगम निदेशक (वित) वी मोहन, उप महाप्रबंधक (फार्म) यशपाल सिंह, निदेशक एचके सुयानथांग आदि मौजूद रहे। फार्म से सेवानिवृत्त हुए पांच वरिष्ठजन को सम्मानित किया गया।
संग्रहालय का किया निरीक्षण
सर्गेई ने संग्रहालय के उद्घाटन के बाद १९५५ में सोवियत गणराज्य संघ की ओर से भेजी मशीनरियों का निरीक्षण किया। कुछ मशीनें चला कर भी देखीं।
सर्गेई व शेखावत उस जीप में भी बैठे, जिसमें कभी सोवियत गणराज संघ के तत्कालीन प्रधानमंत्री ने सफर किया था। इसके बाद उन्होंने फार्म तथा मत्स्य बीजपालन केन्द्र का निरीक्षण भी किया।


केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री ने कहा कि केन्द्रीय राज्य फार्म के विकास में रूस के मंत्री का दौरा महत्वपूर्ण है। पांच वर्षीय योजना तैयार होगी, तो उसमें केन्द्रीय राज्य फार्म को भी ध्यान में रखा जाएगा। वहीं, बीकानेर से आए कलाकारों ने राजस्थानी लोक नृत्य पेश किया।


'संबंधों को और आगे बढ़ाएंगे
सर्गेई बेलेटस्की ने दूरभाष के माध्यम से पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भारत व रूस के बीच राजनयिक संबंधों की ७० वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है।
इसके तहत दोनों देश नई तकनीक के माध्यम से एक दूसरे में सहयोग करने की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं।
इससे भारत को कृषि सहित अन्य क्षेत्रों में आगे बढऩे में रूस सारथी की भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय राज्य फार्म व वर्कशॉप स्थापित करने में सोवियत गणराज्य का
सहयोग रहा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned