scriptकड़ी चौकसी के बावजूद पाक ड्रोन की घुसपैठ | Patrika News
श्री गंगानगर

कड़ी चौकसी के बावजूद पाक ड्रोन की घुसपैठ

– बॉर्डर पर हेरोइन खेप की आवाजाही बीएसएफ के लिए बनी चुनौती
कड़ी चौकसी के बावजूद पाक ड्रोन की घुसपैठ

श्री गंगानगरJun 17, 2024 / 02:21 pm

surender ojha

श्रीगंगानगर. श्रीगंगानगर सेक्टर की यह तीन घटनाएं स्पष्ट इशारा कर रही है कि भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ की कड़ी चौकसी के बावजूद पाकिस्तानी तस्करों के चाइनीज ड्रोन हेरोइन की डिलीवरी देने के लिए भारतीय सीमा में घुसपैठ कर सुरक्षित लौट रहे हैं। अनूपगढ़ क्षेत्र के सीमावर्ती गांव 13 केके के एक खेत में शनिवार तड़के ड्रोन के जरिए गिराई गई छह किलो हेरोइन बरामद होने के बाद यह बात सामने आई है कि पाकिस्तानी तस्करों के ड्रोन ने भारतीय सीमा में तीन किलोमीटर अंदर तक घुसपैठ की थी। बीएसएफ इस बात से कतई इनकार नहीं करेगी कि बॉर्डर पर उसकी चौकसी में कोई कमी है। लेकिन पाकिस्तानी तस्करों के ड्रोन की भारतीय सीमा में घुसपैठ के आगे बीएसएफ की चौकसी बेबस नजर आ रही है। पिछले दो तीन साल की घटनाओं पर ही नजर डालें तो राजस्थान फ्रंटियर में ड्रोन के जरिए भारतीय सीमा में हेरोइन की खेप गिराए जाने की सर्वाधिक घटनाएं श्रीगंगानगर सेक्टर में ही सामने आई है। पाकिस्तानी तस्करों और पंजाब के ड्रग माफिया के घालमेल से पहले से ही संवेदनशील यह सेक्टर और ज्यादा संवेदनशील हो गया है।

एंटी ड्रोन तकनीक ही उपाय

पाकिस्तानी तस्करों के ड्रोन की भारतीय सीमा में घुसपैठ रोकने का एकमात्र अचूक उपाय एंटी ड्रोन तकनीक है। ड्रोन के जरिए हेरोइन तस्करी को लेकर संवेदनशील हो चुके इस सेक्टर को एंटी ड्रोन तकनीक से लैस करने पर ही इस पर अंकुश लगेगा। राजस्थान पत्रिका लगातार इस मुद्दे को उठा रहा है। अभी चार-पांच दिन पहले जयपुर पुलिस मुयालय में हुई पुलिस अधिकारियों की बैठक में भी ड्रोन के जरिए हो रहे ड्रग अटैक को रोकने के लिए बॉर्डर को एंटी ड्रोन तकनीक से लैस करने की वकालत खुद पुलिस महानिदेशक यू.आर.साहू ने की।


यह तो और भी गंभीर

बॉर्डर पार से हेरोइन तस्करी में सीमावर्ती गांवों के युवकों की संलिप्तता तो और ज्यादा गंभीर बात है। बॉर्डर एरिया में काम कर रही सुरक्षा एवं खुफिया एजेंसियों के लिए यह बड़ी चुनौती है। बॉर्डर एरिया के युवक तस्करों के सपर्क में आ रहे हैं। इसकी एकमात्र वजह यही है कि सीमावर्ती गांवों के युवक तस्करी के लिए सुरक्षित हर जगह व रास्तों के बेहतर जानकार है। पंजाब के ड्रग माफिया के लिए काम करने वाले स्थानीय युवकों को लालच देकर उन्हें पेडलर के रूप में काम करने के लिए तैयार करते हैं। पंजाब में जब खालिस्तान की मांग पुन: जोर पकड़ रही है तो सुरक्षा एवं खुफिया एजेंसियों को सीमावर्ती गांवों की भूमिका के बारे में नए सिरे से विचार करना होगा, क्योंकि पंजाब में आतंकवाद के दौरान पाकिस्तान से आए हथियारों की कई खेप आतंकियों तक पहुंचने की बात सामने आई थी। कई बड़ी खेप पकड़ी भी गई थी। खालिस्तान आंदोलन को हवा दे रही पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी हेरोइन तस्करी से जुड़े युवकों का उपयोग हथियार तस्करी में भी कर सकती है।

एसपी बोले, एंटी ड्रोन से बचाव संभव

पुलिस अधीक्षक गौरव यादव का कहना है कि सीमा पार लगातार आ रही हेरोइन की खेप पुलिस, बीएसएफ और खुफिया जांच एजेंसियों के लिए चुनौती बन गई है। पाकिस्तानी तस्कर हेरोइन की डिलीवरी देने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। इन्हें रोकने के लिए एंटी ड्रोन तकनीक ही कारगर उपाय है। बीएसएफ को इस तकनीक से लैस करने का सुझाव पुलिस मुयालय को भिजवाया है।

दौलतपुरा में आई थी खेप

11 मार्च 24 : सीमावर्ती गांव दौलतपुरा के चक 1 क्यू के खेत में ड्रोन के माध्यम से गिराई गई 3 किलो 28 मिलीग्राम हेरोइन मिली। हेरोइन के पैकेट कश्मीर सिंह के खेत में गिराए गए थे। उस रात कश्मीर सिंह अपने खेत में फसलों को पानी दे रहा था। आधी रात बाद उसे खेत पर ड्रोन के मंडराने का शक हुआ। सुबह खेत में जाकर इधर-उधर नजरें दौड़ाई तो हेरोइन के छह पैकेट मिल गए। बीएसएफ और पुलिस को हेरोइन तस्करी की जानकारी इसी किसान से मिली।

यहां भी गूंजी ड्रोन की आवाज

30 मई 24: बॉर्डर के गांव बरुवाला व 44 पीएस की रोही में रात्रि करीब 12:00 बजे किसानों को ड्रोन की आवाज सुनाई दी थी। किसानों से मिली सूचना पर सीआईडी, पुलिस व बीएसएफ ने संयुक्त रूप से इलाके में सर्च अभियान चलाया लेकिन उस समय कोई भी संदिग्ध वस्तु नहीं मिली।

तस्कर ने की हवाई फायरिंग

14-15 जून: मध्य रात्रि को गांव 44 पीएस के पास ग्रामीणों को ड्रोन के माध्यम से हेरोइन तस्करी की भनक लगी। कार में सवार तस्कर हेरोइन की डिलीवरी लेने भी पहुंच गए, जिन्हें गांव वालों ने देख लिया। उन्हें रोकने का प्रयास किया गया तो तस्कर हवाई फायर कर मौके से फरार होने में कामयाब हो गए।

Hindi News/ Sri Ganganagar / कड़ी चौकसी के बावजूद पाक ड्रोन की घुसपैठ

ट्रेंडिंग वीडियो