कांग्रेस ने निभाया चुनावी वादा, सरप्लस विद्युत से रौशन हो रहे प्रदेश के कई जिले

कांग्रेस ने निभाया चुनावी वादा, सरप्लस विद्युत से रौशन हो रहे प्रदेश के कई जिले

Bhupesh Tripathi | Updated: 07 Jul 2019, 06:14:26 PM (IST) Sukma, Sukma, Chhattisgarh, India

कांग्रेस (Congress) ने अपने घोषणा पत्र में कई वाडे किए थे जिसमे बिजली बिल (Bijlibill Halg) हाफ और किसानो (farmers) को कृषि (धान खरीदी ) बोनस में समर्थन मूल्य में तेजी से अमल किया गया, अब प्रदेश (Chhattisgarh) के कई जिलों में सरप्लस विद्युत (Surplus electricity) लोगो के घरो में उजाला भर रहा है।

बीजापुर। प्रदेश (Chhattisgarh) में 1 मार्च से बिजली बिल (Bijlibill) हाफ योजना लागू की गई है। अप्रैल माह से जो बीलिंग की गई है उसमें यह कटौती लागू की जा चुकी है। छत्तीसगढ़ के जन घोषणा पत्र में बिजली बिल आधा करने की घोषणा की गई थी। राज्य सरकार (chhattisgarh Government) के इस कदम का लाभ सीधे उपभोक्ताओं को मिल रहा है। प्रदेश के सुदूर दक्षिण पश्चिम छोर पर स्थित बीजापुर (Chhattisgarh Bijapur) जिले में इस योजनातंर्गत एकलबत्ती एवं घरेलू श्रेणी के उपभोक्ताओं को 400 यूनिट तक के बिजली बिल की राशि में 50 प्रतिशत राशि की छूट दी जा रही है।

इस योजनान्तर्गत मार्च माह में 26 हजार 458 उपभोक्ताओं को 19 लाख 25 हजार 429 रूपए, अप्रैल माह में 27 हजार 143 उपभोक्ताओं को 15 लाख 94 हजार 833 एवं मई माह में 27 हजार 441 उपभोक्ताओं को 16 लाख 50 हजार 204 इस प्रकार कुल 51 लाख 76 हजार 466 रूपए की बिजली बिल के राशि में छूट प्रदान किया गया है।

सरकार के इस कदम से बिजली उपभोक्ताओं मे भारी खुशी है। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार ने 5 हार्स पावर क्षमता के कृषि पंपों को मुफ्त बिजली देने का प्रावधान किया गया है। इस परिप्रेक्ष्य में जिले में 03 हार्स पावर तक 06 हजार यूनिट प्रतिवर्ष एवं 03 से 05 हार्स पावर तक 7 हजार 500 यूनिट प्रति वर्ष छूट प्रदान किया जा रहा है। इसमें अ.जा और अ.ज.जा (ST) (SC)वर्ग के कृषि उपभोक्ताओं को बिना अधिकतम यूनिट की सीमा के नि: शुल्क (Free Electricity) बिजली की सुविधा दी जा रही है।

उल्लेखनीय है कि जिले में विभिन्न क्षमता के 1923 वितरण ट्रासंफारमर के माध्यम से उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ती की जा रही है। अधोसंरचना क्षेत्र में जिले में 132/33 केव्ही उच्चदाब उपकेन्द्र ग्राम नुकनपाल में निर्माणाधीन है।

Surplus electricity

जिले में 33/11 के.व्ही के 09 उपकेन्द्र विद्यमान है जिसमें कुल 42 में पावर क्षमता के पावर ट्रासफारमर स्थापित है। जिस पर 17 मेंगावाट (Megawatt) विद्युत भार दिया जा रहा है। कुल क्षमता में से पूरे जिले को 25 मेंगावाट की बिजली आपूर्ती और किया जा सकता है।

जिले के शहरी एवं ग्र्रामीण क्षेत्रों में निर्बाध रूप से विद्युत आपूर्ती की जा रही है। जिले में 33 के.व्ही 11 केव्हीं एवं निम्नदाब लाईनों की कुल लंम्बाई 375 कि.मी है। जिनसे विद्युत प्रदाय किया जा रहा है। इस दूरस्थ जिले में 694 ग्राम है। जहां 119 वीरान एवं 575 आबाद ग्राम है, में से 319 ग्राम पारपरिक विधी से एवं 250 ग्राम सौर उर्जा से विद्युतकृत किया गया है।

कुल 575 ग्राम विद्युतीकृत है। कुल विद्युतीकृत (Electrified) ग्रामों में से 144 ग्राम शत्प्रतिशत विद्युतीकृत हो चुका है। जिले में 41 हजार 90 निम्नदाब विद्युत उपभोक्ता एकलबत्ती (Single light) श्रेणी के 30 हजार 580 घरेलू श्रेणी के 8571, व्यवसायिक 1243, औद्योगिक श्रेणी के 67 व अन्य श्रेणी के 629 उपभोक्ता है। जिले में बिजली की खपत 35 मिलियन यूनिट है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..
खबरों पर बने रहने के लिए Download करें Hindi news App .

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned