scriptidol suddenly became like the goddess who killed the demon Mahishasura | Navratri 2022 : मंदिर जहां की मूर्ति अचानक महिषासुर राक्षस का वध किए हुए 6 हाथों वाली देवी जैसी हो गई, तब यह कहलाया महिषासुर मर्दिनी मंदिर | Patrika News

Navratri 2022 : मंदिर जहां की मूर्ति अचानक महिषासुर राक्षस का वध किए हुए 6 हाथों वाली देवी जैसी हो गई, तब यह कहलाया महिषासुर मर्दिनी मंदिर

Miraculous Temple एक दिन में तीन बार रूप बदलती हैं यहां मां महिषासुर मर्दिनी

Updated: April 08, 2022 12:27:22 pm

मां महिषासुर मर्दिनी का 700 साल पुराना एक मंदिर मध्यप्रदेश के सिहोर जिले के जावर तहसील में मौजूद है। अपने चमत्कारों के चलते यह देवी मंदिरों मे एक विशेष पहचान रखता है। यहां मंदिर में मौजूद मातारानी हर दिन तीन रूप बदलती है। ऐसे में यहां सुबह के समय देवी मां बाल्यावस्था, तो दोपहर में प्रौढ़ और शाम को मां महिषासुर मर्दिनी वृद्ध अवस्था में नजर आती हैं।

An Special mata mandir
An Special mata mandir

यूं तो माता के दर्शन और पूजा-अर्चना करने यहां श्रद्धालुओं की 12 महीने आवाजाही रहती है, लेकिन नवरात्रि के दौरान इस मंदिर में आने वाले भक्तों की संख्या पहले से कई गुना हो जाती है।

इसका कारण ये है कि अपने आप में विशेष पहचान रखने वाले इस मंदिर की महिमा देश दुनिया में कई जगहों पर फैली हुई है, जिसके चलते विशेषकर नवरात्र के दौरान दूसरी जगहों से भी श्रद्धालु बड़ी संख्या में आते हैं। वर्तमान में चल रहे नवरात्रों के दौरान भी यहां हजारों की संख्या में भक्त दर्शन करने हर रोज आ रहे हैं।

जब लोगों ने जंगल की टेकरी पर पहुंच पूजा अर्चना की तो माता पूरा साक्षात दर्शन देकर पूरी मूर्ति बाहर आ गई। जिसके बाद यहां समय के साथ मंदिर निर्माण हुआ, जो अब महिषासुर मंदिर के नाम से जाना जाता है।

रक्षा करती है माता
पुजारी के अनुसार मां महिषासुर मर्दिनी माता तत्काल फल प्रदान कर जावर क्षेत्र की रक्षा करती है। यह एक सिद्ध मंदिर है और जो भी अपने मन में कोई इच्छा लिए लिए सच्ची श्रद्धा के साथ मां के दर्शन करने यहां आता, उसकी हर मनोकामना पूरी होती है।

पुजारी ने बताया कि 65 वर्ष पूर्व जब देवी मां ने चोला बदला था, तब साधारण सी दिखने वाली मूर्ति 6 हाथों वाली महिषासुर राक्षस का वध किए हुए जैसी हो गई थी। तब से जावर में मां का मंदिर मां महिषासुर मर्दिनी के नाम से पहचाना जाने लगा।

यहां मौजूद है मंदिर
भोपाल-इंदौर हाईवे जावर जोड़ से यह मंदिर करीब चार किमी अंदर मौजूद है। अंदर और बाहर मंदिर का निर्माण अत्यंत आकर्षक है। जावर के लोगों का कहना है कि मां महिषासुर मर्दिनी उनकी हमेशा रक्षा करती हैं। वहीं कोई संकट आने पर उन्हें बचाती भी हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, 160 विधायकों के साथ नई सरकार बनाने का दावा किया पेशनीतीश कुमार ने कहा, 'BJP ने हमेशा किया अपमानित, की कमजोर करने की कोशिश'Maharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपगुजरात के जामनगर में मुहर्रम पर बड़ा हादसा, ताजिया जुलूस में करंट लगने से दो की मौत, कई घायलGoogle: अमरीका के गूगल स्थित डेटा सेंटर में बड़ा हादसा,आग लगने से तीन कर्मचारी झुलसे, सेवाएँ बाधित होने की आशंकाAsia cup 2022: पाकिस्तान के खिलाफ मैदान में उतरते ही विराट कोहली बना देंगे ये रिकॉर्डकेजरीवाल का दावा- राष्ट्रीय पार्टी बनने से एक कदम दूर है AAP, किसी पार्टी को कैसे मिलता है राष्ट्रीय दल का दर्जा?आजादी की 75वीं सालगिरह पर पूरी दिल्ली में फहराए 500 तिरंगे, सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा - 75 साल में कई देश हमसे आगे निकले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.