दुनिया का इकलौता माता शारदा का मंदिर, जहां रात में कोई नहीं रूकता

दुनिया का इकलौता माता शारदा का मंदिर, जहां रात में कोई नहीं रूकता

Devendra Kashyap | Updated: 26 Sep 2019, 04:18:08 PM (IST) मंदिर

सबसे ज्यादा मां दुर्गा का मंदिर पहाड़ों पर स्थापित है, जो अपने चमत्कारों के कारण दुनिया भर में प्रसिद्ध है।

वैसे तो भारत में कोने-कोने में देवी दुर्गा का मंदिर स्थापित है। सभी मंदिरों की अलग-अलग मान्यताएं है। सबसे ज्यादा मां दुर्गा का मंदिर पहाड़ों पर स्थापित है, जो अपने चमत्कारों के कारण दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इन मंदिरों में मां दुर्गा के दर्शन करने के लिए दुनिया भर के लोग भागे-भागे चले आते हैं।

maa_sharda_devi_temple1.jpg

दर्शन के लिए 1063 सिढ़ियां चढ़नी पड़ती है

आज हम एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो दुनिया का इकलौता शारदा मंदिर है। यह मंदिर मैहर माता के मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है। यह मंदिर पहाड़ियों के बीच है। यह मंदिर मध्यप्रदेश के सतना जिले की मैहर में स्थित है। यह मंदिर त्रिकुट पर्वत पर बना है। यहां पर मां के दर्शन करने के लिए 1063 सिढ़ियां चढ़नी पड़ती है, तब मां के दर्शन होते हैं।

maa_sharda_devi_temple_maihar.jpg

आल्हा और उदल करते हैं पूजा

इस मंदिर के बारे कई कथाएं प्रचलित है। कहा जाता है कि इस मंदिर को रोज रात में बंद कर दिया जाता है और सुबह में जब कपाट खोले जाते हैं तो पूजा पहले से किया रहता है। मान्यता है इस मंदिर में माता का सबसे पहले आल्हा और उदल करते हैं उसके बाद ही कोई और करता है।

maa_sharda_devi_temple_maihar3.jpg

रात में कोई नहीं रूकता

कहा तो ये भी जाता है कि इस मंदिर में रात में कोई नहीं रूकता है अगर गलती से रूक भी गया तो उसकी मृत्यु हो जाती है। बताया जाता है कि इस मंदिर की खोज आल्हा और उदल ने की थी। यहां पर वैसे तो हर दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं लोकिन नवरात्रि के दौरान श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ जाती है।

maa_sharda_devi_temple.jpg

दुनिया का इकलौता शारदा मंदिर

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यह दुनिया का इकलौता शारदा मंदिर है। इस मंदिर माता के अलावा काल भैरवी, भगवान हनुमान, काली मां, गौरी शंकर, ब्रह्मदेव, फूलमती माता के अलावा अन्य देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। इस मंदिर को 52 शक्तिपीठों में एक माना जाता है लेकिन इसका उल्लेख शास्त्रों में कहीं नहीं मिलता है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned