scriptShivling of 11th century was found in the excavation of Mahakal campus | मुगलों ने ध्वस्त किया था, फिर आकार लेगा 11वीं शताब्दी का शिवालय | Patrika News

मुगलों ने ध्वस्त किया था, फिर आकार लेगा 11वीं शताब्दी का शिवालय

locationउज्जैनPublished: Nov 24, 2023 12:24:17 pm

Submitted by:

Manish Gite

मंदिर को 17वीं सदी के आसपास ढहाने के प्रमाण मिले हैं। संभवत: मुगल आक्रमण का शिकार हुआ।

mahakal-temple.png

महाकाल मंदिर परिसर में खुदाई में मिला 11वीं सदी का शिव मंदिर फिर आकार लेगा। पंचरथी भूमिज शैली के परमारकालीन मंदिर की ऊंचाई 48 फीट होगी। उत्खनन में पश्चिममुखी मंदिर के 80% वास्तुखंड पुरातत्व विभाग को मिले थे। दिसंबर में काम शुरू होगा। 60 लाख से यह डेढ़ साल में बनेगा। दो साल पहले स्मार्ट सिटी कंपनी की खुदाई में इसके प्रमाण मिले। उत्खनन में भूमिज शैली का मंदिर मिला। इस शैली के मंदिर जमीन से निकलते प्रतीत होते हैं। पुरातत्वविदों को उत्खनन में नंदी की बड़ी प्रतिमा भी मिली है।


पुरातत्व विभाग की कमिश्नर उर्मिला शुक्ला ने बताया, मंदिर को 17वीं सदी के आसपास ढहाने के प्रमाण मिले हैं। संभवत: मुगल आक्रमण का शिकार हुआ। कई हिस्सों को दुरुस्त करने के साथ चूना पुता दिखा है। मंदिर 6.5 मीटर मलबे में दबा था। उत्खनन में 5 मंदिरों के अवशेष मिले थे।

बेसाल्ट पत्थरों से बना था मंदिर

● 20% गायब हिस्से के पत्थरों को इसी शैली में ढाला जाएगा।

● इसमें अंतराल और गर्भगृह का हिस्सा मिला है।

● उत्खनन में जाड्य कुंभ, खुर, कपौती भाग भी मिले हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो