scriptNewborn baby thrown on the side of the road... | क्या मजबूरी रही इस मां की जिसने नवजात को फेंक दिया सड़क किनारे? रोने की आवाज से इकट्ठा हो हुई भीड़ | Patrika News

क्या मजबूरी रही इस मां की जिसने नवजात को फेंक दिया सड़क किनारे? रोने की आवाज से इकट्ठा हो हुई भीड़

- चाइल्डलाइन की टीम ने एनआईसीयू में भर्ती किया बच्ची को, पूरी तरह स्वस्थ

उन्नाव

Published: September 07, 2021 10:05:47 am

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

उन्नाव. ऐसी मां जिसने अपने नवजात बच्ची को सड़क किनारे छोड़ कर चली गई। रोने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने इसकी जानकारी सीआरबी को दी मौके पर पहुंची खिलाड़ी नवजात को लेकर स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र पहुंची। इसकी सूचना चाइल्ड लाइन को दी गई। चाइल्डलाइन की टीम ने बच्ची के प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के स्पेशल वार्ड लेकर पहुंची। डॉक्टरों के अनुसार बच्ची पूरी तरह स्वस्थ है।

क्या मजबूरी रही इस मां की जिसने नवजात को फेंक दिया सड़क किनारे? रोने की आवाज से इकट्ठा हो हुई भीड़
क्या मजबूरी रही इस मां की जिसने नवजात को फेंक दिया सड़क किनारे? रोने की आवाज से इकट्ठा हो हुई भीड़
यह भी पढ़ें

कोविड-19 मेगा वैक्सीनेशन कैंप, ग्राम प्रधान ने बाहरी व्यक्तियों के वैक्सीनेशन का किया विरोध

सोहरामऊ थाना क्षेत्र की घटना

मामला सोहरामऊ थाना क्षेत्र अंतर्गत बावरिया गांव के पास की है। सोमवार के दिन पीआरबी को सूचना मिली सड़क किनारे एक नवजात बच्ची रो रही है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पीआरपी की टीम ने बच्ची को नवाबगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया और इसकी जानकारी जिला प्रोवेशन अधिकारी चाइल्डलाइन टीम को दी गई। अज्ञात लावारिस बच्ची के मिलने की जानकारी मिलते ही चाइल्डलाइन की टीम सक्रिय हुई।

बाल संरक्षण अधिकारी संजय मिश्रा ने दी जानकारी

बाल संरक्षण अधिकारी संजय मिश्रा ने बताया समन्वयक दिवाकर ओझा, शालिनी मिश्रा को मौके पर जाकर नवजात शिशु को अपनी सुपुर्दगी में लेने के लिए निर्देशित किया गया। मौके पर पहुंचे चाइल्डलाइन की टीम ने नवजात शिशु से लेकर जिला अस्पताल पहुंची। नवजात शिशु को लेकर जिला अस्पताल के एनआईसीयू में भर्ती कराया। संजय मिश्रा ने बताया कि आगे की कार्रवाई बाल कल्याण समिति के आदेश के बाद की जाएगी। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ है। सहयोग करने वालों में सामाजिक कार्यकर्ता हरिवेंद्र सिंह भी शामिल थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

इसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगाते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़राजस्थान के जालोर में दलित छात्र की मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद, अलर्ट पर प्रशासनपिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालासिर पर टोपी, हाथों में तिरंगा; आजादी का जश्न मनाते दर्जनों मुस्लिम बच्चों का ये वीडियो कहां का है और क्यों वायरल हो रहा है?Rakesh Jhunjhunwala Faith in Sati Dadi Temple: झुंझुनूं की राणी सती दादी मंदिर में थी राकेश झुनझुनवाला की गहरी आस्था'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.