यूपी में अनोखा मामला, पूर्ण रूप से स्वस्थ महिला ने कोरोना संक्रमित बच्ची को दिया जन्म

Covid-19 Case. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona Virus) संबंधित एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। वाराणसी बीएचयू (BHU) के सर सुंदरलाल अस्पताल में एक गर्भवती महिला ने कोविड संक्रमित बच्ची को जन्म दिया। जबकि खुद महिला की रिपोर्ट निगेटिव आई।

By: Karishma Lalwani

Published: 28 May 2021, 09:51 AM IST

वाराणसी. COVID-19 Case. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona Virus) संबंधित एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। वाराणसी बीएचयू (BHU) के सर सुंदरलाल अस्पताल में एक गर्भवती महिला ने कोविड संक्रमित बच्ची को जन्म दिया। जबकि खुद महिला की रिपोर्ट निगेटिव आई। दुनिया में भी यह अपनी तरह का पहला मामला है। इसे लेकर डॉक्टर भी हैरत की स्थिति में हैं।

दुनिया में पहला है यह मामला

मामला वाराणसी कैंटोंनमेंट का है। चंदौली निवासी अनिल कुमार पेशे से व्यापारी हैं। इनकी 26 वर्षीय पत्नी सुप्रीया प्रजापि गर्भवती थीं। 24 मई को बीएचयू हास्पिटल में भर्ती कराने से पहले उनकी पत्नी का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें वार्ड में भर्ती करा दिया। 25 मई को दिन में महिला ने ऑपरेशन से बच्ची को जन्म दिया। डॉक्टरों ने मां को नवजात बच्ची देने से पहले उसका आरटीपीसीआर जांच कराई। देर रात एक बजे नवजात की रिपोर्ट आई जिसमें उसे पॉजिटिव बताया गया। रिपोर्ट में नवजात का सीटी स्कोर 34 है। यह अपनी तरह का पहला मामला है। डॉक्टर भी इस बात से हैरान हैं कि मां की रिपोर्ट निगेटिव आने पर बच्ची कैसे पॉजिटिव हो गई।

आरटीपीसीआर की सेंसिटिविटी शतप्रतिशत नहीं

सर सुंदरलाल अस्पताल के चिकित्सक अधीक्षक समेत कई विशेषज्ञों ने रिपोर्ट पर शक जाहिर किया है। नियोनेटल इंटेसिव केयर यूनिट (एनआईसीयू) के इंचार्ज प्रो. अशोक कुमार ने कहा कि ये संभव नहीं है कि मां निगेटिव हो और उसका होने वाला बच्चा पॉजिटिव हो जाएगा। आरटीपीसीआर की सेंसिटिविटी शतप्रतिशत नहीं होती है। इस कारण जांच निगेटिव या पॉजिटिव हो सकती है। फिलहाल बच्ची को स्तनपान के लिए मां से अलग नहीं रखा गया है। बच्ची की दोबारा जांच कराई जाएगी। मां का भी दोबारा टेस्ट कराया जाएगा ताकि पता चल सके कि वह पहले से कोरोना पॉजिटिव तो नहीं थी।

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही आई सामने, पूरे अस्पताल में सिर्फ एक फार्मासिस्ट और एक डॉक्टर

ये भी पढ़ें: रिकवरी रेट में सुधार, लेकिन नहीं टला खतरा, यूपी के 28 हजार से ज्यादा गांवों की हालत चिंताजनक

Corona virus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned