कोरोना के प्राथमिक उपचार के लिए शुरू हुआ काशी कवच, लॉकडाउन में घर बैठे ही लोगों को मिलेगी संजीवनी और जांच की जानकारी

Kashi Kavach से कोविड और नॉन कोविड दोनों अस्पतालों के मरीजों को घर बैठे ही मिलेगी मदद

By: Karishma Lalwani

Published: 30 Apr 2021, 01:15 PM IST

वाराणसी. Kashi Kavach launched in Varanasi. धर्म नगरी काशी में कोरोना संक्रमण (Corona Virus) से लोगों को बचाने के लिए प्रशासन ने नई योजना बनाई है। अस्पतालों में मरीजों की भीड़ को देखते हुए वाराणसी में लोगों को घर पर ही इलाज से लेकर जांच तक की सुविधा देने का फैसला किया है। प्रशासन ने काशी कवच (Kashi Kavach) नाम की सुविधा शुरू की है। यह सुविधा कोविड और नॉन कोविड दोनों अस्पतालों के मरीजों को दी जाएगी। इससे मरीजों के इलाज में आ रही परेशानी को दूर करने का भी प्रयास किया गया है। इस सुविधा को एमएलसी एके शर्मा ने डीएम कौशल राज शर्मा और कमिश्नर दीपक अग्रवाल के साथ मिलकर लॉन्च किया है।

वर्तमान समय में वाराणसी समेत पूरे प्रदेश के अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज को लेकर शिकायतें आ रही हैं। कहीं ऑक्सीजन नहीं मिल रहा, कहीं डॉक्टर नहीं बैठ रहे तो कहीं पैथोलॉजी लैब सहित सभी जगह संक्रमण से बचने के लिए जाने से ही परहेज कर रहे हैं। यह भी देखा गया है कि जिन लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं, वह प्राथमिक लक्षण के आधार पर प्राथमिक उपचार भी नहीं शुरू कर पा रहे। ऐसे में डॉक्टर की सलाह घर बैठे मिल सके इसके लिए प्रशासन ने आईएमए के साथ मिलकर इस व्यवस्था को शुरू किया है। लोग टेलीमेडिसिन के जरिये डॉक्टर से सलाह लेकर घर पर ही कोविड संबंधी मदद ले सकते हैं। अगर डॉक्टर जांच के लिए कहते हैं तो इस सुविधा से जुड़े पैथोलॉजी सेंटर से घर बैठे सैंपल की सुविधा मिल सकती है।

संबंधित डॉक्टर आपका फोन उठाएंगे

टेलीमेडिसिन से जोमैटो जैसी ई-मार्केटिंग करने वाली कुछ कंपनियों को भी इससे जोड़ा गया है। ई-मार्केटिंग से जुड़ी कंपनियों के व्यक्ति घर पर ही दवा दे जाएंगे। इस सुविधा का लाभ देने के लिए डॉक्टरों और पैथोलॉजी की लिस्ट जारी कर दी गयी है। लिस्ट में सभी डॉक्टरों का अलग-अलग समय रखा गया है। दिए गए समय के अनुसार ही कोई भी व्यक्ति डॉक्टर से संपर्क कर सकता है।

ये भी पढ़ें: ऑक्सीजन की शिकायत पर सीएम योगी ने दिखाई सख्ती, कहा लापरवाही पर डीएम और सीएमओ की होगी जवाबदेही

ये भी पढ़ें: मरीजों के सैंपल लेने और टेस्ट करने के लिए प्राइवेट लैब संचालक नहीं वसूल सकेंगे अधिक फीस, जिलाधिकारी ने रेट तय कर जारी किए निर्देश

Corona virus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned