scriptKashi Vishwanath Temple में 300 मुसलमानों ने किया जलाभिषेक, बोले- राम, कृष्ण और शिव हमारे पूर्वज | Kashi Vishwanath Temple 300 Muslims performed Jalabhishek said Ram Krishna and Shiva are ancestors | Patrika News

Kashi Vishwanath Temple में 300 मुसलमानों ने किया जलाभिषेक, बोले- राम, कृष्ण और शिव हमारे पूर्वज

locationवाराणसीPublished: Mar 01, 2024 09:57:33 am

Submitted by:

Sanjana Singh

Kashi Vishwanath Temple: मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच के 300 सदस्‍यों ने काशी विश्वनाथ मंदिर में जलाभिषेक किया। उन्होंने कहा कि कट्टरपंथी मौलाना हमेशा गलत बयान देते हैं।

Kashi Vishwanath Temple
Kashi Vishwanath Temple
Kashi Vishwanath Temple: ज्ञानवापी (Gyanvapi) के व्यासजी तहखाने के पूजा के विवाद के बीच 300 मुस्लिम महिला और पुरुषों ने काशी विश्वनाथ मंदिर में जलभिषेक किया। इसके साथ ही, उन्होंने ज्ञानवापी तलगृह का भी झांकी दर्शन किया। इस दौरान मुस्लिम सदस्‍यों ने कट्टरपंथी मौलानाओं की बातों को ना सुनने का आग्रह किया और कहा कि हिंदू हमारे भाई हैं, हमारे पूर्वज सब एक ही थे।
दरअसल, मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच का जत्था 29 फरवरी को विश्वनाथ मंदिर पहुंचा। यहां उन्होंने शिवलिंग का जलाभिषेक किया और ज्ञानवापी तहखाने के पास जाकर झांकी दर्शन किया। एक न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, इस अवसर पर मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के महामंत्री राजा रईस ने कहा, “हम अपने बाबा यानी अपने पूर्वज के दर्शन करने आए थे। उन्‍होंने कहा कि भगवान राम, भगवान कृष्‍ण और भगवान शिव सब हमारे अपने हैं। हमारे बाबा-दादा सब एक हैं और हिंदू हमारे भाई हैं।”

कट्टरपंथी मौलाना हमेशा गलत बयान देते हैं


इसके साथ ही, मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच के सदस्‍‍‍‍‍‍यों ने कहा कि मौलाना तो हमेशा गलत बयान देते हैं। कुरान शरीफ में साफ- साफ लिखा है कि 1 लाख 24 हजार नबी इस दुनिया में आए हैं। इनमें से कुछ मुस्लिम थे लेकिन कुछ लोग हमेशा गलत बातें ही करते हैं।

यह भी पढ़ें

किसानों को योगी सरकार का तोहफा, गेहूं की खरीद आज से शुरू, मिलेगा इतना दाम

भारत सत्यम, शिवम, सुंदरम की धरती है


मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (Muslim National Forum) के महामंत्री राजा रईस ने यह भी कहा कि चंद कट्टरपंथी लोग आखिर 1 अरब 15 करोड़ लोगों को कैसे चुनौती दे सकते हैं। भारत की संस्‍कृति महान है। यह सत्‍यम, शिवम और सुंदरम की धरती है। विदेशी ताकतों और अंग्रेजों की गुलामी के कारण कुछ लोग बहक गए हैं और अपनी संस्‍कृति को भूल रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो