घर के लालच में पिता ने तय किया 15 साल की बच्ची का रिश्ता, नाबालिग ने पुलिस को फोन कर कहा- पढ़ना चाहती हूं, रुकवा दो शादी

वाराणसी जिले के चोलापुर थाना क्षेत्र में ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां नाबालिग लड़की ने अपनी शादी रोकने के लिए पुलिस को फोन कर अपने साथ हो रहे अन्याय के बारे में सूचना दी।

By: Karishma Lalwani

Published: 22 Feb 2021, 01:11 PM IST

वाराणसी. कच्ची उम्र में बेटियों की शादी कराना गांव व छोटे शहरों में आम बात है। मगर बदलते वक्त के अनुसार, लोगों की सोच में खासकर उन बच्चों में बदलाव आया है जो शादी के दबाव में न आकर पढ़ लिखकर कुछ करने का सपना देखती हैं। यही वजह है कि बेटियां अब बाल विवाह के विरोध में खुद सामने आ रही हैं। वाराणसी जिले के चोलापुर थाना क्षेत्र में ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां नाबालिग लड़की ने अपनी शादी रोकने के लिए पुलिस को फोन कर अपने साथ हो रहे अन्याय के बारे में सूचना दी। बाल विवाह की जानकारी होने पर पुलिस ने नाबालिग लड़की के पिता को गिरफ्तार कर लिया।

मुरादाबाद में तय हुआ था विवाह

चोलापुर थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 15 वर्षीया किशोरी ने 20 फरवरी को पुलिस को फोन करके बताया कि उसके पिता उसकी शादी मुरादाबाद करने जा रहे हैं। वहां से कुछ लोग उसके घर आए हुए हैं। चोलापुर थानाध्यक्ष ने तत्काल मामले का संज्ञान लिया व बाल संरक्षण अधिकारी निरुपमा सिंह को फोन करके पूरी घटना बताई। पुलिस किशोरी के घर पहुंची और वहां पर मुरादाबाद से आए तीन लोगों सहित किशोरी के पिता को थाने लेकर गई। पिता के जिद पर अड़े होने पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। वहीं रविवार की सुबह जिला बाल संरक्षण इकाई से आकाश मिश्रा व विजय चौहान चोलापुर थाने पहुंचे और आरोपित पिता के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए किशोरी को बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष मनोज मिश्रा के समक्ष पेश किया।

पढ़ना चाहती है लड़की

काउंसलिंग के दौरान बाल संरक्षण अधिकारी निरुपमा सिंह को बालिका ने बताया कि गांव में कुछ लोग मुरादाबाद से आए थे। उन लोगों का कहना था कि जो भी अपनी बेटी की शादी करेगा वे उसका घर बनवा देंगे व उसे पैसा भी देंगे। इस दौरान उसके पिता ने उसकी शादी की बात चलाई। यह बात जब उसे पता चली तो उसने तत्काल पुलिस को फोन कर इसकी सूचना दी। किशोरी ने कहा कि मुरादाबाद के एक 35 साल के व्यक्ति से उसके पिता उसका विवाह तय कर रहे हैं जबकि वह अभी पढ़ना चाहती है और उसे शादी नहीं करनी है। उसने बाल संरक्षण अधिकारी को यह भी बताया कि उसके घर में बुआ और चाचा हैं और दोनों की अभी तक शादी नहीं हुई है। पुलिस मुरादाबाद से आए लोगों की जांच में जुटी है।

माता पिता से भरवाया गया शपथ पत्र

इस तरह का एक अन्य मामला शिवपुर के चांदमारी में भी सामने आया है जहां 16 साल की किशोरी ने शनिवार रात जिला बाल संरक्षण इकाई के सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार को फोन कर बताया कि पिता उसका विवाह करने के लिए दिल्ली ले जा रहे हैं। राजकुमार ने बाल संरक्षण अधिकारी को जानकारी दी। जानकारी होने पर चाइल्ड लाइन टीम से संतोष, जिला बाल संरक्षण इकाई से राजकुमार व विजय चौहान एवं चांदमारी चौकी से पुलिस की टीम बालिका के घर पहुंची। परिवार वालों की काउंसलिंग की गई। माता पिता से शपथ पत्र भरवाया गया कि बालिग होने से पहले बेटी की शादी नहीं करेंगे।

ये भी पढ़ें: बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह गिरफ्तारी वारंट जारी होते ही अंडर ग्राउंड, पुलिस संभावित ठिकानों पर दे रही दबिश

ये भी पढ़ें: एक मार्च से बच्चे जाएंगे स्कूल, क्लास रूम सहित पूरे विद्यालय का बदला रहेगा वातावरण, इस तरह होगी पढ़ाई

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned