एक लाख रुपये रिश्वत नहीं दिया तो पुलिस चौकी में युवक को बेरहमी से पीटा

-रुपये के लेन देने का मामला
-मामला पहुंचा एसएसपी के पास
- इंस्पेक्टर रोहनिया बोले मामले की जांच कराई जा रही

By: Ajay Chaturvedi

Published: 04 Jul 2019, 07:17 PM IST

वाराणसी. यूपी पुलिस का एक क्रूरतम चेहरा सामने आया है। इसके तहत राजातालाब क्षेत्र के एक युवक को रात में सोते वक्त उठा कर पुलिस चौकी पर ला कर उसकी बेरहमी से पिटाई की गई। इस पिटाई से उसकी एक अंगुली टूट गई। पीठ पर पुलिस की पिटाई के निशान भी है। पीड़ित का आरोप है कि उसके प्राइवेट पार्ट पर भी पुलिस ने हमला किया। मुंह में थूका। इसकी सूचना होते ही गांव में पुलिसिया आतंक के चलते भय और आक्रोश व्याप्त है।

घटना के संबंध में पीड़ित युवक सन्नी पटेल का आरोप है कि बीती रात जब अपने घर पर सो रहा था तो करीब दो बजे राजातालाब पुलिस चौकी प्रभारी के साथ कई सिपाही पहुंचे और उसे जगाया। पुलिस को देख उसने डर के मारे भागने की कोशिश की लेकिन वह सफल नहीं हो सका। ऐसे में पुलिस वालों ने पकड़ कर मौके पर ही जम कर पिटाई की फिर चौकी पर ले गए और वहां भी पेड़ से बांध कर बेरहमी से पीटा। इससे अंगुली टूट गई है और पीठ पर भी चोटें आई हैं। युवक का आरोप है कि पुलिसवालों ने उसके प्राइवेट पार्ट्स को भी निशाना बनाया।

युवक का कहना है कि गांव के ही एक अऩ्य युवक के साथ रुपये के लेन देन का मामला काफी दिनों से चल रहा था। इसी प्रकरण में पुलिस ने दूसरे पक्ष के साथ मिलकर पिटाई की। उसने यह भी कहा कि पिटाई न करने के लिए पुलिसवालों ने एक लाख रुपये भी मांगे।

गुरुवार को जब यह मामला इलाके में चर्चा का विषय बन गया और कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इसे पुलिस के आला अधिकारियों तक पहुंचाया। यहां तक कि शाम सात बजे एसएसपी से मिलने की बात आई तो इंस्पेक्टर रोहनिया ने घटना से एसएसपी को अवगत कराया। इंस्पेक्टर रोहनिया परशुराम त्रिपाठी ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि मामला संज्ञान में आया है, उसकी जांच कराई जा रही है। रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। वहीं जब एसएसपी से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनके पीआरओ ने बताया कि अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

वहीं पीड़ित के परिजन पुलिस की पिटाई से जख्मी सन्नी का मेडिकल कराने में जुटे हैं।

 

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned