scriptLocusts Added to European Union’s Approved Food List | यूरोप में टिड्डे को भोजन के तौर पर किया गया शामिल, जानिए कैसे खाया जाता है इसे, जल्द ही इस कीड़े का नंबर भी आएगा | Patrika News

यूरोप में टिड्डे को भोजन के तौर पर किया गया शामिल, जानिए कैसे खाया जाता है इसे, जल्द ही इस कीड़े का नंबर भी आएगा

बीते जून में ईयू ने बीटल के यलो मीलवर्म लार्वा को खाने के लिए अधिकृत किया था। अब हाउस क्रिकेट नाम के कीट को भी जल्द ही इंसानों के भोजन की सूची में शामिल किया जा सकता है।

 

नई दिल्ली

Published: November 15, 2021 09:28:07 pm

नई दिल्ली।

यूरोपीय यूनियन ने टिड्डी को स्वीकृत भोजन की सूची में शामिल कर लिया है। यह दूसरा मौका है, जब यूरोपीय यूनियन ने कहा कि कीड़े-मकोड़े इंसानों के भोजन के रूप में सुरक्षित हैं।
loctust.j
यूरोपीय आयोग ने टिड्डियों को मानव भोजन के रूप में अधिकृत करने के बाद कहा कि इसे नाश्ते के रूप में या भोजन के रूप में खाया जा सकता है। इसके अलावा टिड्डियों के पंखों और पैरों को हटाकर सूखे या फ्रोजन फॉर्म मे भी इस्तेमाल किया जा सकता है। आयोग ने यह भी सुझाव दिया है कि इनका पाउडर बनाकर भी खाया जा सकता है।
यह भी पढ़ें
-

आस्ट्रेलिया में बदमाशों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ी, प्रधानमंत्री ने कुछ घंटे पहले ही किया था इसका अनावरण

यूरोपियन फूड सेफ्टी अथॉरिटी ने कहा कि कीट प्रजाति के वयस्क टिड्डों को बिना किसी सुरक्षा की चिंता किए खाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इनमें हाई प्रोटीन पाया जाता है। आयोग ने यह भी कहा कि अगर किसी को क्रस्टेशियंस, माइट्स और मोलस्क से एलर्जी है, तो वे लोग इसका सेवन न करें। इसे खाने से उन लोगों को एलर्जी हो सकती है।
यह भी पढ़ें
-

देश में ज्यादा बच्चे पैदा हों इसके लिए ईरान लाया अजीबो-गरीब कानून, विशेषज्ञों ने कहा- इससे महिलाओं की जान को खतरा होगा

टिड्डियों को खाने के रूप में मान्यता नीदरलैंड स्थित फेयर इनसेक्ट्स बीवी के आवेदन पर दिया गया है। यह फर्म मीलवर्म, टिड्डियों और हाउस क्रिकेट नाम के कीड़ों का उत्पादन करती है। इन कीड़ों का उत्पादन मुख्य रूप से पालतू जानवरों और मुर्गियों के दानों के लिए किया जाता है। फूड एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन ने इन कीड़ों की उच्च वसा, प्रोटीन, विटामिन, फाइबर और खनिज सामग्री के साथ अत्यधिक पौष्टिक और स्वस्थ खाद्य स्रोत के रूप में पहचान की है।
भारत, पाकिस्तान सहित दुनिया के कई देशों में हर साल टिड्डियों के हमलों से हजारों एकड़ फसलें खराब हो जाती हैं। Desert locust या टिड्डी जब एक समूह में होते हैं तो उनका व्‍यवहार बदल जाता है। एक घंटे में टिड्डी दल 16-19 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है। हवा साथ दे तो और दूर भी जा सकते हैं। एक एडल्‍ट टिड्डी अपने वजन (2 ग्राम) के बराबर रोज खा सकती है। एक किलोमीटर के टिड्डी दल में करीब 4 करोड़ टिड्डियां होती हैं। वो एक दिन में उतना खा सकती हैं जिनता 35 हजार लोग एक दिन में खाएंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.