scriptMukesh Ambani, reaching with family, bowed his head in this temple | मुकेश अंबानी ने सपरिवार पहुँच कर राजस्थान के इस मंदिर में टेका माथा, दफ्तर में भी रखी है आराध्य मूर्ति | Patrika News

मुकेश अंबानी ने सपरिवार पहुँच कर राजस्थान के इस मंदिर में टेका माथा, दफ्तर में भी रखी है आराध्य मूर्ति

Mukesh Ambani Visits Shrinathji Temple: दुनिया में शीर्ष 10 अमीरों की सूची में शामिल और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी 14 सितंबर बुधवार को सपरिवार राजस्थान के नाथद्वारा पहुंचे। यहां उन्होंने श्रीनाथजी मंदिर में दर्शन-पूजन किया और आशीर्वाद लिया। अंबानी परिवार का श्रीनाथजी पर दृढ़ विश्वास है और किसी भी शुभ काम की शुरुआत से पहले यहां जरूर आते हैं।

जयपुर

Updated: September 14, 2022 02:58:39 pm

Mukesh Ambani Visits Shrinathji Temple: मुकेश अंबानी ने मंदिर में दर्शन किया और विशाल बाबा से बातचीत कर वापस मुंबई लौट गए।
मुकेश अंबानी, चार्टर्ड प्लेन से उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पहुंचे। वहां से वह सड़क मार्ग से नाथद्वारा पहुंचे। उनके साथ बेटे अनंत अंबानी की मंगेतर राधिका मर्चेंट और कंपनी के निदेशक मनोज मोदी भी मौजूद थे।
mukesh_ambani_at_nathdwara.jpg

नाथद्वारा से शुरू कर सकते हैं 5 G सेवा
नाथद्वारा पहुंचे मुकेश अंबानी ने यहां विशाल बाबा का आशीर्वाद भी लिया और उनसे तमाम मसलों पर चर्चा की, जिसमें जियो की 5 G सेवा भी शामिल थी। अंबानी ने अनौपचारिक तौर पर नाथद्वारा से 5 जी सेवा शुरू करने की इच्छा जाहिर की। बता दें कि कंपनी ने हाल में अपनी एजीएम के बाद ऐलान किया था कि इसी साल दीपावली तक देश के बड़े शहरों में 5 जी सेवा की शुरुआत कर दी जाएगी।
श्रीनाथजी मंदिर से है अंबानी परिवार का पुराना नाता
श्रीनाथजी मंदिर से अंबानी परिवार का पुराना नाता है और कई पीढ़ियों से यहां आते रहे हैं। चर्चित लेखक हमीश मैकडोनाल्ड ने अपनी किताब ‘अंबानी एंड संस’ में लिखा है कि अंबानी परिवार मोढ बनिया परिवार से आता है, जिनके मुख्य आराध्य देव भगवान श्रीनाथ हैं। इसलिए अंबानी परिवार कोई भी नया काम करने से पहले मंदिर में दर्शन करने जरूर आता है। अंबानी परिवार ने इस मंदिर में एक आश्रम का भी निर्माण कराया है। मुकेश अंबानी की मां इस मंदिर की उपाध्यक्ष भी हैं। अंबानी ने अपने दफ्तर में भी भगवान श्रीनाथजी की प्रतिमा लगवाई है।

यह है श्रीनाथजी मंदिर की मान्यता
श्रीनाथजी, श्रीकृष्ण भगवान के बाल्यावस्था के रूप माने गए हैं। इन्हें वैष्णव संप्रदाय का मुख्य पीठासीन देव भी कहा जाता है। शुरुआत में कृष्ण के बाल रूप को देवदमन रूप में पूजा जाता था। बताया जाता है उसके बाद वल्लभाचार्य ने उनका नाम गोपाल रखा और पूजा का स्थान ‘गोपालपुर’ रखा। वहीं, बाद में विट्ठलनाथजी ने उनका नाम बदलकर श्रीनाथजी रख दिया।
यहाँ भगवान श्रीकृष्ण को दी जाती है 21 तोपों की सलामी

ऐसी मान्यता है कि भगवान श्रीकृष्ण आज भी यहां विराजमान हैं। यहां दर्शन और पूजा करने से लोगों के कष्ट दूर हो जाते हैं। यह पहला ऐसा मंदिर है, जहां भगवान श्रीकृष्ण को 21 तोपों की सलामी दी जाती है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Swachh Survekshan 2022: लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, सूरत दूसरे तो मुंबई तीसरे स्थान परअब 2.5 रुपये/किलोमीटर से ज्यादा दीजिए सिर्फ रोड का टोल! नए रेट लागूकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला41 साल के शख्स को 142 साल की जेल, केरल की अदालत ने इस अपराध में सुनाई यह सजाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजास्वच्छता अभियान 2022 शुरू, 100 लाख किलो प्लास्टिक जमा करने का लक्ष्यसैनिटरी पैड के लिए IAS से भिड़ने वाली बिहार की लड़की को मुफ्त मिलेगा पैड, पढ़ाई का खर्च भी शून्यएयरपोर्ट पर 'राम' को देख भावुक हो गई बुजुर्ग महिला, छूने लगी अरुण गोविल के पैर, आस्था देख छलके आंसू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.