INDIA-CHINA VIOLENT : प्रधानमंत्री मोदी का चीन को जवाब- जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

कहा, भारत शांति चाहता है, लेकिन अपनी रक्षा के लिए देश हरसंभव कदम उठाएगा
-भारत-चीन बॉर्डर पर गलवान में हिंसक झड़प (Violent clashes in Galvan on Indo-China border)

By: pushpesh

Updated: 17 Jun 2020, 05:31 PM IST

नई दिल्ली. चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवानों की शहादत के बाद बुधवार को पहली बार प्रधानमंत्री का बयान आया। उन्होंने चीन को चेतावनी देते हुए कहा, जब भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की बात आएगी तो वह ऐसी किसी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेगा। उनका यह बयान कोरोनावायरस महामारी से निपटने को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान आया। उन्होंने सबसे पहले शहीदों की याद में 2 मिनट का मौन रखने का आग्रह भी किया।

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया कि भारत शांति चाहता है, लेकिन अपनी रक्षा के लिए वह हरसंभव कदम उठाएगा। मोदी ने कहा, मैं देश को आश्वस्त करना चाहूंगा कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे लिए देश की एकता और संप्रभुता अहम है। भारत शांति चाहता है, लेकिन अगर उकसाया गया तो भारत माकूल जवाब देने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि बलिदान और साहस भारत की विशेषता है। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned