scriptSri lanka crisis 12 ministers house burnt firing at PM residence | Sri Lanka Crisis: महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद श्रीलंका में गृह युद्ध जैसे हालात, एक दर्जन मंत्रियों का घर फूंका, कारसहित नेता को झील में फेंका | Patrika News

Sri Lanka Crisis: महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद श्रीलंका में गृह युद्ध जैसे हालात, एक दर्जन मंत्रियों का घर फूंका, कारसहित नेता को झील में फेंका

Sri Lanka Crisis: गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे पड़ोसी मुल्क श्रीलंका में प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद हिंसा भड़क उठी है। जगह-जगह सरकार समर्थक और विरोधियों के बीच झड़प हो रही है। प्रधानमंत्री आवास तक में गोलीबारी की गई है।

नई दिल्ली

Published: May 10, 2022 09:29:36 am

Sri Lanka Crisis: श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद देश में हिंसा भड़क उठी है। जगह-जगह सरकार समर्थक और विरोधी प्रदर्शनकारी हिंसक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। सोमवार को महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद शुरू हुए बवाल में अभी तक 12 से अधिक मंत्रियों के घर को फूंक दिया गया है। प्रधानमंत्री आवास के अंदर भी गोलीबारी की गई है। हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए पूरे देश में कर्फ्यू लगा दिया गया है। सेना के जवानों सड़कों पर उतार दिया गया है। लेकिन अभी तक स्थिति पर काबू नहीं पाया जा सका है।

sri_lanka_crisis.jpg

श्रीलंका हिंसा से संबंधित कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए है। जिसमें मंत्रियों के धू-धू कर जलते घर के साथ-साथ कार सहित नेता को झील में फेंकते लोग दिख रहे हैं। उल्लेखनीय हो कि आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के विपक्षी दल और लोग राजपक्षे परिवार पर राजनीति छोड़ने का दवाब बना रहे थे। हालांकि प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे और उनके छोटे भाई और राष्ट्रपित गोटबाया राजपक्षे इस्तीफे की मांग को टाल रहे थे। इस बीच प्रदर्शनकारियों के दवाब के बीच सोमवार को महिंद्रा राजपक्षे ने इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद पूरे देश में हिंसा भड़क उठी।

राजधानी कोलबो से जब राजपक्षे के समर्थकों ने जाने की कोशिश की तो उनकी गाड़ियों को निशाना बनाया गया। दूसरी ओर प्रदर्शनकारियों ने हंबनटोटा में महिंद्रा राजपक्षे के पुश्तैनी आवास को आग के हवाले कर दिया। राजधानी कोलबो में पूर्व मंत्री जॉनसन फर्नांडो को कार सहित झील में फेंक दिया। सरकार समर्थक और विरोधियों की हिंसा में अभी तक सांसद समेत चार लोगों की मौत हो गई है। समाचार एजेंसी के अनुसार अभी तक 119 लोग घायल हो चुके है।

यह भी पढ़ेंः

Sri Lanka Crisis: आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे ने दिया इस्तीफा, जानिए अब आगे क्या होगा

इस समय श्रीलंका में क्यों भड़की हिंसा
श्रीलंका की मौजूदा स्थिति के लिए महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे को जिम्मेवार बताया जा रहा है। उल्लेखनीय हो कि विपक्षियों की मांग से इतर राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और उनके बड़े भाई प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे इस्तीफा नहीं देना चाहते थे। लेकिन विपक्षियों की मांग के खिलाफ उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। जिसके बाद उनके समर्थक सड़कों पर उतर गए। जिसके बाद राजपक्षे भाइयों के विरोधियों और समर्थकों के बीच देश के कई हिस्सों में झड़पें शुरू हो गई हैं।

अब आगे क्या हो सकता है
सबसे पहले तो देश में शांति व्यवस्था को कायम करना चुनौती होगी। इसके बाद राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे अंतरिम सरकार के गठन की प्रकिया शुरू करेंगे। पिछले हफ्ते प्रमुख विपक्षी नेता सिरिसेना ने राष्ट्रपति से मुलाकात की थी। इसमें तय हो गया था कि प्रधानमंत्री महिंदा इस्तीफा देंगे। अब जब महिंद्रा राजपक्षे इस्तीफा दे चुके हैं तो देश में अंतरिम सरकार के गठन का रास्ता साफ हो चुका है। लेकिन इसके लिए हिंसा का शांत होना जरूर है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.