कामिका एकादशी : आज ऐसे करें भगवान शिव के साथ विष्णु की पूजा

कामिका एकादशी : आज ऐसे करें भगवान शिव के साथ विष्णु की पूजा

Devendra Kashyap | Updated: 28 Jul 2019, 01:49:42 PM (IST) पूजा

kamika ekadashi : कामिका एकादशी के दिन सच्चे मन से व्रत करने से सभी तरह की परेशानियों का अंत हो जाता है और हर काम में सफलता मिलती है।

हिन्दू धर्म में एकादशी व्रत का काफी महत्व है। सावन माह ( sawan month ) में पड़ने वाली एकादशी का महत्व और भी ज्यादा होता है। सावन महीने ( Sawan 2019 ) के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को कामिका एकादशी कहा जाता है। आज कामिका एकादशी ( Kamika Ekadashi ) है। आज के दिन भगवान विष्णु ( Lord Vishnu ) की पूजा की जाती है।

ये भी पढ़ें- अनूठा संयोग : सावन के दूसरे सोमवार को सोम प्रदोष, इस वक्त करें शिव पूजन

माना जाता है कि आज के दिन जो भी व्रत रखता है, उसे पाप से मुक्ति मिल जाती है। कहा जाता है कि सावन महीने में भगवान विष्णु को पूजने से देवता, गंधर्वों और नागों की पूजा भी हो जाती है।

मान्यता है कि कामिका एकादशी के दिन सच्चे मन से व्रत करने से सभी तरह की परेशानियों का अंत हो जाता है और हर काम में सफलता मिलती है।

ये भी पढ़ें- सावन शिवरात्रि : इस शुभ मुहूर्त में करें भोलेनाथ की पूजा, रहेगी असीम कृपा

पुराणों के अनुसार, भगवान कृष्ण से कामिका एकादशी के बारे में युधिष्ठिर को बताया था। कृष्ण ने कहा था इस एकादशी का व्रत रखने वाले को अश्वमेध यज्ञ के बराबर फल की प्राप्ति होती है।


पूजा करने की विधि

  • कामिका एकादशी के दिन नहा धोकर पिले रंग का वस्त्र धारण करें। भगवान विष्णु का ध्यान कर व्रत का संकल्प लें।
  • इसके बाद भगवान विष्णु की मूर्ति को शुद्ध जल से स्नान करा लें, उसके उस पर पिले फल-फूल, तिल दूध और पंचामृत आदि चढ़ाएं।
  • आज के दिन सहस्त्रनाम का पाठ अवश्य करें. इसके साथ ही भगवान विष्णु के मन्त्र 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय' का यथासंभव जप करें।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned