'अजातशत्रु अमर रहें, अटल अमर रहें' की गूंज के बीच सीएम योगी ने बटेश्वर में किया अटलजी की अस्थियों का विसर्जन

'अजातशत्रु अमर रहें, अटल अमर रहें' की गूंज के बीच सीएम योगी ने बटेश्वर में किया अटलजी की अस्थियों का विसर्जन

suchita mishra | Publish: Sep, 08 2018 01:28:39 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

अस्थियों के विसर्जन के बाद सीएम उनके पैतृक निवास पहुंचे। वहां परिजनों से मुलाकात कर खंडहर हो चुके पूर्व प्रधानमंत्री के मकान को ऐतिहासिक स्मारक के रूप में बनाए जाने का आश्वासन दिया।

आगरा। आज यानी 8 सितंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियां उनके पैतृक गांव बटेश्वर में प्रवाहित कर दी गईं। आगरा आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को करीब 11 बजे बटेश्वर के रानी घाट पर पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थियों का विसर्जन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री के साथ अटल जी के करीबी रिश्तेदार रमेश वाजपेई भी मौजूद थे। इसके अलावा प्रशासनिक अधिकारी एडीजी अजय आनंद, डीआईजी लव कुमार, एसएसपी अमित पाठक, जिलाधिकारी आगरा एन. जी. रवि कुमार के अलावा कमिश्नर भी मौके पर मौजूद रहे।

जैसे ही वे लोग यमुना घाट से अटल जी की अस्थियों का विसर्जन करने के लिए नाव पर सवार हुए तो तेज बारिश होने लगी। यह दृश्य देखकर ऐसा लगा कि अटल जी की विदाई पर मानो आसमान भी आंसू बहा रहा है। बटेश्वर मंदिर के जय प्रकाश गोस्वामी के साथ में तमाम प्रखंड पंडितों ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की अस्थियों का विसर्जन करवाया। इस दौरान ग्रामीण अजातशत्रु अमर रहें, अटल अमर रहें..के नारे लगाते रहे।

Must Read - इस्लाम से खारिज निदा खान के पिता को मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोका

यमुना के रानी घाट पर अस्थि विसर्जन के बाद जैन धर्मशाला में श्रद्धांजलि सभा हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अटलजी के अटल आदर्शो का स्मरण कर उन्हें न सिर्फ राजनीति का बल्कि जीवन के हर संघर्ष का अजातशत्रु कहा। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के पैतृक निवास पहुंचे और वहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके परिजनों से मुलाकात की और खंडहर हो चुके पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के मकान को नए सिरे से बनवाकर ऐतिहासिक स्मारक के रूप में बनाए जाने का आश्वासन दिलाया।

Read it - हाथरस में ऐसा क्या हुआ कि डीआईजी, कमिश्नर, एसपी, डीएम सहित तमाम अधिकारियों को लगानी पड़ी 'दौड़'

Read it - सरकारी अस्पताल का इससे बुरा हाल आपने शायद ही कहीं देखा हो

Ad Block is Banned