महिला डॉक्टर की हो चुकी थी मौत, पास बैठा था डेढ़ साल का मासूम बेटा, परिजनों के उड़े होश

पुलिस का कहना है कि मौत की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है।

By: धीरेंद्र यादव

Published: 25 Apr 2018, 07:35 AM IST

आगरा। लेडी लॉयल कैम्पस में मंगलवार रात एक महिला चिकित्सक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। उनका शव कमरे में था और पास में ही डेढ़ साल का मासूम बेटा बैठा हुआ था। कमरे में डॉक्टर पति नहीं थी। सूचना पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस का कहना है कि मौत की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है। हालांकि पति का कहना है कि परिवार में कलह चल रही थी।

2004 बैच की थीं छात्रा
जगदीशपुरा क्षेत्र के रहने वाले अजय कुमार की पुत्री डॉ. मोनिका सिद्धू लेडी लॉयल में तैनात थीं। एसएन मेडिकल कॉलेज के बैच 2004 की छात्रा थीं। हाल ही में मेरठ में पीजी में प्रवेश हुआ है। उनकी शादी कोशीकलां मथुरा निवासी डॉ. हरविंदर सिंह से हुआ है। हरविंदन सिंह भी हॉस्पिटल में ही स्त्री रोग विशेषज्ञ के पद पर हैं। उनका डेढ साल का बेटा भी है। डॉक्टर दंपती लेडी लॉयल महिला चिकित्सालय स्थित क्वाटर में रह रहे थे।


ये है घटना
मंगलवार रात आठ बजे बगल के क्वाटर में रहने वाली डॉक्टर की नजर पड़ी तो डॉ. मोनिका अपने बेड पर बेहोश पड़ी हुईं थी। पास में ही उनका डेढ साल का बेटा था, घर पर उनके डॉक्टर पति नहीं थे। उन्होंने हॉस्पिटल के अधिकारियों को सूचना दी, वे डॉ. मोनिका को लेकर एसएन इमरजेंसी पहुंचे। यहां डॉक्टरों की टीम ने उनका ईसीजी सहित अन्य जांच की, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

इंजेक्शन लगाकर मौत की आशंका
बताया जा रहा है कि डॉ. मोनिका के पास में ही इंजेक्शन पड़ा हुआ था, आशंका है कि इंजेक्शन लगाने के बाद उनकी मौत हो गई, यह इंजेक्शन बेहोशी के दौरान लगाए जाने वाला हो सकता है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सीओ कोतवाली ने बताया कि डॉ. मोनिका ने खुद को इंजेक्शन लगाया, जिससे उसकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत की वजह साफ हो सकेगी।

धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned