वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे: स्वस्थ रहना है तो रिश्तों को एडजस्ट नहीं इंजॉय करें

वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे: स्वस्थ रहना है तो रिश्तों को एडजस्ट नहीं इंजॉय करें

Dhirendra yadav | Publish: May, 17 2018 07:51:22 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

भारत में 10 लाख युवा जूझ रहे हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से, ग्रामीणों की संख्या में भी हो रहा इजाफा।

आगरा। जिन्दगी और रिश्तों को बोझ समझकर एडजस्ट करने के बजाय इसे इंजॉय करें। जिंदगी भर स्वस्थ रहने का इससे बेहतर फंडा और कोई नहीं। यह बात होटल भावना क्लार्क में सोना रेनबो कार्डियक केयर के डॉ. राजकुमार गुप्ता ने विश्व रक्तचाप दिवस के मौके पर आयोजित सेमई में कही। उन्होंने बताया कि भारत में लगभग 10 लाख युवा (20-35 वर्ष की आयु) बीपी की समस्या से जूझ रहे हैं। यह कहावत भी अब गलत साबित हो रही है कि गांव में स्वस्थ भारत बसता है। क्योंकि उनके आय के साधन सीमित हैं और ग्लोबलाइजेशन के कारण अपेक्षाएं बढ़ रही हैं।

रिश्तों की अहमियत को समझें
उन्होंने कहा कि भागदौड़ और तनाव भरी जिन्दगी के दौर में रिश्तों की जरूरत और अहमियत को समझें। आपस में बातचीत करें और एक दूसरे को समय दें। बच्चों से उनकी क्षमताओं के अतिरिक्त अपेक्षाएं रखने के बजाए अभिभावक उन्हें सकारात्मक सोच के लिए प्रेरित करें। पति पत्नी, माता-पिता और बेटा-बेटी जैसे रिश्तों से बेहतर उपचारक कोई नहीं। लेकिन आज के दौर में लोग इन रिश्तों को एडजस्ट कर रहे हैं। स्वस्थ रहने के लिए हर रोड योग और संतोषी रहने की भी सलाह दी। नगर निगम में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में लोगों को प्रकृति के नजदीक रहने, प्रदूषण नियंत्रण व शारीरिक श्रम का संदेश देते हुए डॉ. राजकुमार गुप्ता शास्त्रीपुरम कारगिल पैट्रोल पम्प से नगर निगम तक साइकिल से पहुंचे और साइकिल चलाकर ही वापस गए।

दिया गया परामर्श
कैम्प में मरीजों को स्वास्थ्य सम्बंधी परामर्श दिया गया। डॉ. अमित नारायण गुप्ता ने हाई बीपी के कारण किडनी पर होने वाले प्रभावों के बारे में बताया। सीएमई के चेयरपर्सन विनीत गर्ग ने बताया कि विश्व रक्तचाप दिवस के मौके पर 17 से 31 मई तक रोना रेनबो कार्डियक केयर पर सभी की बीपी जी जांच निशुल्क की जाएगी। इस अवसर पर डॉ. शरद पालीवाल, डॉ. केएन बंसल, डॉ. राजीव कुमार सिंह, डॉ. रणवीर त्यागी, डॉ. राजेश अग्रवाल , डॉ. अंकुर, डॉ. अनूप दीक्षित, डॉ. रीतेश बंसल आदि उपस्थित थे।

Ad Block is Banned